Jansandesh online hindi news

वर्चुअल कोर्ट में वकील साहब महिला संग फरमाने लगे इश्‍क,कैमरा ऑन, सबकुछ हो गया टेलिकास्‍ट

एक वकील की हरकतों ने मद्रास हाई कोर्ट को शर्मिंदा कर दिया है। वर्चुअल कोर्ट में सुनवाई के दौरान, वकील साहब किसी महिला से इश्‍क फरमाने लगे। उनका कैमरा ऑन रह गया और सबकुछ टेलिकास्‍ट हो गया। अदालत ने CB-CID को मामला दर्ज कर जांच के आदेश दिए हैं। वकील उस समय अपने केस की बारी आने का इंतजार कर रहे थे जब उनपर इश्‍क का बुखार चढ़ा।

 | 
वर्चुअल कोर्ट में वकील साहब महिला संग फरमाने लगे इश्‍क,कैमरा ऑन, सबकुछ हो गया टेलिकास्‍ट

चेन्‍नै: एक वकील की हरकतों ने मद्रास हाई कोर्ट को शर्मिंदा कर दिया है। वर्चुअल कोर्ट में सुनवाई के दौरान, वकील साहब किसी महिला से इश्‍क फरमाने लगे। उनका कैमरा ऑन रह गया और सबकुछ टेलिकास्‍ट हो गया। अदालत ने CB-CID को मामला दर्ज कर जांच के आदेश दिए हैं। वकील उस समय अपने केस की बारी आने का इंतजार कर रहे थे जब उनपर इश्‍क का बुखार चढ़ा।

घटना सोमवार सुबह की है। एक तरफ जज साहब वीडियो कॉन्‍फ्रेंसिंग से मामले सुन रहे थे, उधर वकील साहब की हरकतों ने सबका ध्‍यान खींच लिया। वीडियो में वकील साहब किसी महिला के साथ अंतरंग दिख रहे थे। मंगलवार तक यह वीडियो वायरल हो गया। अदालत ने कहा कि वह ‘सुनवाई के दौरान अश्‍लीलता के ऐसे प्रदर्शन को अदालत मूकदर्शक बनकर देखते नहीं रह सकती।’

FIR होगी, कोर्ट ने मांगे दोनों के नाम
मद्रास HC ने वीडियो का संज्ञान लेते हुए खुद ही आपराधिक अवमानना की कार्यवाही शुरू कर दी। अदालत ने पुलिस को मामले में IT ऐक्‍ट के तहत FIR दर्ज करने और 23 दिसंबर तक शुरुआती रिपोर्ट देने का निर्देश दिया। कोर्ट ने अश्‍लील कृत्‍य में हिस्‍सा लेने वालों के नाम बताने को भी कहा है। उधर, तमिलनाडु और पुडुचेरी की बार काउंसिल ने एडवोकेट आर.डी. शांतन कृष्‍णन के वकालत करने पर रोक लगा दी है।

चेन्‍नै पुलिस कमिश्‍नर को निर्देश दिए गए हैं कि वह वीडियो के सर्कुलेशन को रुकवाएं। इंटरनेट से वीडियो हटाने का भी निर्देश है। कोर्ट ने कहा कि वह हाइब्रिड मोड में सुनवाई पर पुनिर्वचार की सोच रहे हैं। कार्यकारी मुख्‍य न्‍यायाधीश इस संबंध में फैसला करेंगे।

Text Example

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।