Jansandesh online hindi news

'अंधाधुंध वैक्सीनेशन : Covid-19 के म्यूटेंट स्ट्रेन को मिल सकता है बढ़ावा', विशेषज्ञों की PM को रिपोर्ट

 | 
'अंधाधुंध वैक्सीनेशन : Covid-19 के म्यूटेंट स्ट्रेन को मिल सकता है बढ़ावा', विशेषज्ञों की PM को रिपोर्ट

पब्लिक हेल्थ एक्सपर्ट के एक ग्रुप ने देश में वैक्सीनेशन को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) को एक बड़ा सुझाव दिया है। इस ग्रुप ने कहा कि बड़े पैमाने पर, अंधाधुंध और इन्कम्प्लीट वैक्सीनेशन से कोरोनावायरस (Coronavirus) के म्यूटेंट स्ट्रेन (Mutant Strain) को बढ़ावा मिल सकता है। उन्होंने सुझाव दिया है कि जो लोग Covid-19 संक्रमण की चपेट में आ चुके हैं, उनके वैक्सीनेशन की कोई जरूरत नहीं है।

इस ग्रुप में अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (AIIMS) के डॉक्टर Covid-19 नेशनल टास्क फोर्स के सदस्य भी शामिल हैं। ग्रुप ने अपनी हालिया रिपोर्ट में कहा है कि बड़े पैमाने पर लोगों के वैक्सीनेश की जगह केवल उन लोगों का वैक्सीनेशन किया जाना चाहिए, जो संवेदनशील और जिनको ज्यादा जोखिम है।

इंडियन पब्लिक हेल्थ एसोसिएशन, इंडियन एसोसिएशन ऑफ एपिडमोलॉजिस्ट्स और इंडियन एसोसिएशन ऑफ प्रीवेंटिव एंड सोशल मेडिसिन के विशेषज्ञों ने अपनी रिपोर्ट में कहा है, "देश में महामारी की मौजूदा स्थिति मांग करती है कि इस चरण में सभी ऐज ग्रुप्स के लिए वैक्सीनेशन शुरू करने की जगह हमें महामारी संबंधी आंकड़ों से खुद के रास्ते तय करने चाहिए।" रिपोर्ट प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को सौंपी गई है।

इसमें ये इस पर भी जोर दिया गया है कि कम उम्र के वयस्कों और बच्चों का वैक्सीनेशन साक्ष्य समर्थित नहीं है और ये किफायती नहीं होगा। रिपोर्ट में कहा गया है कि बिना प्लानिंग वैक्सीनेशन से वायरस के म्यूटेंट स्ट्रेन को बढ़ावा मिल सकता है। इसमें कहा गया है कि जो लोग कोरोनावायरस संक्रमण की चपेट में आ चुके हैं, उनके वैक्सीनेशन की अभी कोई जरूरत नहीं है।

Coronavirus Live updates: एक दिन में 91,702 नए केस और 3403 लोगों की मौत

स्वास्थ्य मंत्रालय के शुक्रवार के ताजा आंकड़ों के मुताबिक, भारत में COVID-19 के 91,702 नए मामले आने के बाद कुल पॉजिटिव मामलों की संख्या 2,92,74,823 हुई। 3,403 नई मौतों के बाद कुल मौतों की संख्या 3,63,079 हो गई है।

इसके अलावा 1,34,580 नए डिस्चार्ज के बाद कुल डिस्चार्ज की संख्या 2,77,90,073 हुई। देश में सक्रिय मामलों की कुल संख्या 11,21,671 है।