Jansandesh online hindi news

जानिए, कौन है 'Bulli Bai app' के मास्टरमाइंड नीरज !

Bulli Bai app News: 21 वर्षीय इंजीनियरिंग छात्र नीरज बिश्नोई को गिटहब पर बुल्ली बाई ऐप का मास्टरमाइंड और ऐप का मुख्य ट्विटर अकाउंट धारक कहा जा रहा है। नीरज बिश्नोई को दिल्ली पुलिस ने बीते रात असम के जोरहाट जिले से गिरफ्तार किया था। बुली बाई ऐप के सरगना 20 साल के नीरज बिश्नोई का मध्य प्रदेश से सीधा कनेक्शन है. वह सीहोर के वैल्लोर इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (VIT) से बीटेक (कम्प्यूटर साइंस) की पढ़ाई कर रहा है. नीरज सेकंड ईयर में है, लेकिन अब संस्थान ने उसे निष्कासित कर दिया है.  
 
 | 
जानिए, कौन है 'Bulli Bai app' के मास्टरमाइंड नीरज !

भोपाल. देश में हड़कंप मचा रहे बुली बाई ऐप विवाद के तार मध्य प्रदेश से भी जुड़ गए हैं. दिल्ली पुलिस की गिरफ्त में आया बुली बाई एप कांड का सरगना 20 साल का नीरज बिश्नोई भोपाल की प्राइवेट यूनिवर्सिटी का छात्र है. वह सीहोर स्थित वैल्लोर इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (VIT) से बीटेक (कम्प्यूटर साइंस) कर रहा है. नीरज पढ़ाई में तेज है. उसकी आर्थिक भले ही अच्छी न हो, लेकिन उसने 10-12वीं में 86 फीसदी नंबर हासिल किए हैं. आरोपी राजस्थान के नागौर का रहने वाला है.

गौरतलब है कि इस वक्त वह सेकेंड ईयर में है. उसने दो साल पहले यहां एडमिशन तो लिया था, लेकिन कोविड-19 के कारण कभी कॉलेज नहीं आया. बुली बाई एप मामले में उसका नाम आते ही कॉलेज मैनेजमेंट ने उसे निष्कासित कर दिया है. अब इस मामले में सीहोर पुलिस भी एक्शन मोड में आ गई है. सूत्रों के मुताबिक, दिल्ली पुलिस की एक टीम बुधवार को नीरज के पिता दशरथ से पूछताछ करने पहुंची थी. उसके पिता पेशे से दुकानदार हैं. उनकी दो बेटियां और सबसे छोटा बेटा है. दिल्ली पुलिस नीरज को अपने साथ ले गई थी. पुलिस ने आरोपी का मोबाइल फोन और लैपटॉप भी जब्‍त किया. जिस मोबाइल को जब्त किया गया, वह नीरज की मां का है.

जानकारी के मुताबिक, पिता ने पुलिस से कहा कि नीरज ने हमें बताया है कि वह किसी भी गलत काम में शामिल नहीं था. उसने दिल्‍ली पुलिस टीम को भी बताया कि वह निर्दोष है. ऐसा संभव है कि किसी ने उसकी फोटो का दुरपयोग किया हो. आरोपी छात्र के पिता ने बताया कि नीरज ने 86 प्रतिशत से दसवीं पास की थी और राज्‍य सरकार ने उसे लैपटॉप दिया था. हमारी आर्थिक स्थिति अच्‍छी नहीं थी. हम बेटे के लिए कंप्‍यूटर नहीं खरीद सकते थे. कक्षा 12 में भी 86 प्रतिशत हासिल किए और 2019 में उसे वेल्‍लोर इंस्‍टीट्यूट ऑफ टेक्‍नोलॉजी भोपाल में प्रवेश मिल गया था. वह इन दिनों ऑनलाइन पढ़ाई कर रहा था. वह लैपटॉप पर रात 11 बजे तक काम करता था. हाल ही में वह पारिवारिक शादी में शामिल होने राजस्‍थान गया था और 25 दिसंबर को जोरहाट लौटा था.

Text Example

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।