Jansandesh online hindi news

मोदी कैबिनेट : यूपी के इन चेहरों को मिल सकता है मंत्री बनने का मौका

 | 
मोदी कैबिनेट : यूपी के इन चेहरों को मिल सकता है मंत्री बनने का मौका

मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल के के कैबिनेट में पहली बार फेरबदल की संभावना जताई जा रही है. सूत्रों से मिल रही खबर के मुताबिक अगले 24 से 48 घंटे में मंत्रिमंडल में फेरबदल हो सकता है. मंगलवार शाम को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के घर पर अमित शाह और बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा की बैठक भी है. कहा जा रहा है कि मोदी मंत्रिमंडल में करीब 22 नए चेहरे शामिल हो सकते हैं. साथ ही कुछ मंत्रियों को संगठन की जिम्मेदारी दी जा सकती है तो कुछ को राज्यपाल बनाया जा सकता है. जानकारी के मुताबिक, मोदी सरकार के कैबिनेट फेरबदल में यूपी को तवज्जो दी जा सकती है. यूपी कोटे से करीब चार से पांच मंत्री शामिल हो सकते हैं. सूत्रों के मुताबिक इस बाबात पीएम नरेंद्र मोदी की मुख्यमंत्री से बात भी हुई है.

दरअसल, 2022 में यूपी विधानसभा का चुनाव होना है, ऐसे में जातीय समीकरण और सहयोगियों को साधने की कोशिश मंत्रिमंडल विस्तार के माध्यम से हो सकती है. उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनावों को देखते हुए जातीय और वर्गीय संतुलन साधने के लिए ब्राह्रण चेहरे के रूप में प्रदेश की पूर्व मंत्री रीता बहुगुणा जोशी, सत्यदेव पचौरी और सासंद रमापति राम त्रिपाठी में से किसी एक को लिया जा सकता है. वहीं, युवा चेहरों के नाम पर कई बार के सांसद वरुण गांधी को भी मंत्रिमंडल में शामिल किए जाने की संभावनाएं दिख रही हैं. जबकि दलित चेहरे के रूप में पूर्व केंद्रीय मंत्री रामशंकर कठेरिया का नाम लिया जा रहा है. सहयोगी दलों में अपना दल की अनुप्रिया पटेल, जनता दल (यू) के आरसीपी सिंह और विभाजित लोजपा के पारस गुट के पशुपति पारस के नाम की भी चर्चा हो रही है.

आज शाम को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के घर पर बड़ी बैठक
मंत्रिमंडल विस्तार से पहले मंगलवार शाम को पीएम आवास पर एक बड़ी बैठक होनी है. इसमें गृहमंत्री अमित शाह, बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, निर्मला सीतारमण, धर्मेंद्र प्रधान, पीयूष गोयल, प्रह्लाद जोशी और नरेंद्र सिंह तोमर मौजूद रहेंगे. बता दें कि दो सप्ताह पहले सभी मंत्रियों के मंत्रालय के कामकाज की समीक्षा के बाद उनसे आने वाले समय में उनका मंत्रालय क्या प्लान कर रहा है, इसकी भी रिपोर्ट मांगी गई थी. इससे पहले पीएम मोदी 20 जून को भी अपने वरिष्ठ मंत्रियों के साथ पिछले दो वर्षों में किए गए सरकार कामों समीक्षा कर चुके हैं.

हो सकते हैं 22 नए मंत्री शामिल
सूत्रों के मूताबिक 24 से 48 घण्टे में मोदी मंत्रीमंडल का विस्तार होगा.  मोदी मंत्रिमंडल विस्तार में करीब 22 नए मंत्री शामिल किए जा सकते हैं और कुछ पुराने मंत्रियों की छुट्टी भी हो सकती है. कुछ मंत्रियों को संगठन में भेजा जा सकता है तो कुछ को आगे राज्यपाल बनाया जा सकता है. मौजूदा मंत्रिपरिषद में कुल 53 मंत्री हैं और नियमानुसार अधिकतम मंत्रियों की संख्या 81 हो सकती है.

इन नामों की चर्चा
मोदी कैबिनेट में शामिल होने वाले जिन संभावित नामों की चर्चा है, उनमें असम के पूर्व मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल, उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत, बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी, मध्य प्रदेश के ज्योतिरादित्य सिंधिया जैसे नेता शामिल हैं. उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनावों को देखते हुए जातीय और वर्गीय संतुलन साधने के लिए ब्राह्रण चेहरे के रूप में प्रदेश के पूर्व मंत्री रीता बहुगुणा जोशी, सत्यदेव पचौरी और सासंद रमापति राम त्रिपाठी में से किसी एक को लिया जा सकता है. वहीं, युवा चेहरों के नाम पर कई बार के सांसद वरुण गांधी को भी मंत्रिमंडल में शामिल किए जाने की संभावनाएं दिख रही हैं. जबकि दलित चेहरे के रूप में पूर्व केंद्रीय मंत्री रामशंकर कठेरिया का नाम लिया जा रहा है. सहयोगी दलों में अपना दल की अनुप्रिया पटेल, जनता दल (यू) के आरसीपी सिंह, और विभाजित लोजपा के पारस गुट के पशुपति पारस के नाम की भी चर्चा हो रही है.