Jansandesh online hindi news

Online Game की लत बनी जानलेवा, दस लाख के साथ जान से धो बैठा हाथ ! 

Online Game खेलने की लत जानलेवा बनती जा रही है. हाल में ही मध्य प्रदेश के राजगढ़ में एक युवक ने ऑनलाइन गेम के कारण ट्रेन (Train) के आगे लेटकर अपनी जान दे दी. हादसा इतना दर्दनाक था कि युवक का सिर और धड़ अलग हो गया.

 | 
Online Game की लत बनी जानलेवा, दस लाख के साथ जान से धो बैठा हाथ ! 

मध्य प्रदेश के रायगढ़ में एक दो बच्चों का पिता ऑनलाइन तीन पत्ती गेम की लत का शिकार हो गया और बैठे-बिठाए पैसे कमाने की चाहत में उसने 10 लाख रुपए गवां दिए। रुपए उसने कर्ज ले रखे थे जिसका दबाव बढ़ने के बाद उसने सुसाइड करना उचित समझा और रेलवे ट्रैक पर जाकर सिर रख दिया। दरअसल, युवक को मोबाइल में तीन पत्ती (Teen Patti) खेल खेलने का बहुत शौक था. इस गेम की लत के कारण युवक इस गेम में 10 लाख रुपए हार गया था. वो लोगों से कर्जा लेकर गेम खेला करता था. गेम के कारण उस पर लोगों की उधारी काफी हो गई थी. इसी कारण वो एक महीने से बहुत परेशान था.

ये पूरा मामला रविवार की रात आठ बजे ब्यावरा के पास पडोनिया गांव का है. युवक का शव रेलवे ट्रैक पर पड़ा था. इसकी सूचना लोगों ने पुलिस को दी. शव की पहचान विनोद दांगी के रूप में की गई. पुलिस अब इस मामले की जांच कर रही है. पुलिस का कहना है कि जांच के बाद ही इस मामले में कुछ कहना संभव हो सकेगा.

विनोद तीन बहनों में इकलौता भाई था. विनोद शादीशुदा था, उसके दो बेटे भी हैं. कुछ दिन पहले वह घर में फांसी लगाने का प्रयास कर चुका है, लेकिन परिवार वालों की नजर पड़ गई तो उसे बचा लिया गया था. उसकी मौत के साथ ही परिवार का चिराग बुझ गया है. परिवार के लोगों ने बताया कि वह ऑनलाइन गेम में 10 लाख रुपये हार गया था. इसकी वजह से बीते एक महीने से गुमशुम की तरह रह रहा था. परिजनों को रात आठ बजे उसके शव रेलवे ट्रैक पर पड़े होने की खबर मिली

विनोद समपन्न घर से ताल्लुक रखता है. विनोद के पिता हेमराज दांगी बड़े किसान हैं साथ ही ब्यावरा में भोपाल रोड पर सरपंच ढाबे के पास उनका बड़ा कॉम्प्लेक्स हैं. इसमें 7 से 8 दुकानें हैं. सभी किराए पर हैं. विनोद यह कॉम्प्लेक्स देखता था. वो दिनभर यही बैठा रहता था. तीन महीने पहले ही उसने तीन पत्ती खेल खेलना शुरू किया था. इन तीन महीने में वो 10 लाख रुपए हार गया था. इसमें आधा से ज्यादा कर्ज लिए हुए था. ब्यावरा देहता थाना प्रभारी आदित्य सोनी ने इस संबंध में अभी कुछ कहा नहीं जा सकता. जांच के बाद ही कुछ कहा जा सकता है.

Text Example

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।