Jansandesh online hindi news

पीएम मोदी -UP में हुए कामों की लंबी है लिस्ट, गिनाने का भी वक्त नहीं

 | 
पीएम मोदी -UP में हुए कामों की लंबी है लिस्ट, गिनाने का भी वक्त नहीं

पीएम नरेंद्र मोदी आज अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी के दौरे पर हैं। वह ठीक साढ़े 10 बजे वायुसेना के विशेष विमान से वाराणसी एयरपोर्ट पर पहुंचे। वहां राज्‍यपाल आनंदीबेन पटेल, सीएम योगी आदित्‍यनाथ, मंत्री आशुतोष टंडन और राधामोहन सिंह समेत कई नेताओं ने उनका स्‍वागत किया। इसके बाद प्रधानमंत्री कार्यक्रम स्‍थल बीएचयू पहुंचे हैं। वहां उन्‍होंने बटन दबाकर 1583 करोड़ की 280 योजनाओं का लोकार्पण और शिलान्‍यास किया। पीएम की आज की सौगातों में रुद्राक्ष कन्‍वेंशन सेंटर का उद्घाटन भी शामिल है। बीएचयू की जनसभा में पीएम मोदी ने कोरोना की दूसरी लहर में यूपी सरकार के कामों को अभूतपूर्व बताया। उन्‍होंने योगी सरकार की पीठ थपथपाते हुए कहा कि आज यूपी में तेजी से विकास हो रहा है क्‍योंकि सीएम योगी खुद कड़ी मेहनत करते हैं। उन्‍होंने कहा कि आज यूपी में माफिया और भाई-भतीजावाद नहीं विकास वाद पर सरकार चल रही है। 

पीएम मोदी बोले- यूपी आज देश के अग्रणी इन्वेस्टमेंट डेस्टिनेशन के रूप में उभर रहा है। कुछ साल पहले तक जिस यूपी में व्यापार-कारोबार करना मुश्किल माना जाता था, आज मेक इन इंडिया के लिए यूपी पसंदीदा जगह बन रहा है। यूपी में योगी की सरकार इंफ्रास्ट्रक्चर पर फोकस इसकी वजह है। 

पीएम मोदी बोले-आज काशी के कलाकारों को अपनी कला दिखाने के लिए एक मंच मिल रहा है। अब से कुछ देर में मैं कन्वेंशन सेंटर रुद्राक्ष काशी के लोगों को सौंपने वाला हूं।

पीएम मोदी बोले-काशी के मेडिकल इंफ्रास्ट्रक्चर में आज कुछ और कड़ियां जुड़ रही हैं। आज महिलाओं और बच्चों की चिकित्सा से जुड़े नए अस्पताल काशी को मिल रहे हैं। इसमें से 100 बेड की क्षमता बीएचयू में और 50 बेड जिला अस्पताल में जुड़ रहे हैं।

पीएम मोदी बोले-आज से जो रोरो सेवा और क्रूज बोर्ड का संचालन शुरु हुआ है। इससे काशी का टूरिज्म सेक्टर और फलने फूलने वाला है। हमारे नाविक साथियों को भी बेहतर सुविधाएं दी जा रही हैं। डीजल नावों को सीएनजी में बदला जा रहा है। इससे पर्यावरण को लाभ होगा और पर्यटक भी आकर्षित होंगे। 

पीएम मोदी बोले-वाराणसी के 700 से ज्यादा स्थानों पर अडवांस सर्विलांस कैमरा लगाए जा रहे हैं। जगह-जगह एलईडी स्क्रीन, घाटों पर टेक्नॉलजी बेस इंफॉर्मेशन बोर्ड यहां आने वाले लोगों की मदद करेंगे। बड़ी स्क्रीन के माध्यम से गंगा घाट और काशी विश्वनाथ मंदिर में आरती का लाइव प्रसारण संभव हो पाएगा। 

पीएम मोदी बोले-गौदोलिया में मल्टी लेवल पार्किंग बनने से कितनी किचकिच कम होगी, ये बनारस के लोगों को भली भांति पता है। लहरतारा से चौका घाट फ्लाइओवर के नीचे से पार्किंग से लेकर दूसरी जनसुविधाओं का निर्माण जल्द पूरा हो जाएगा। बनारस की किसी भी बहन को, परिवार को शुद्ध जल के लिए परेशान न होना पड़े। इसके लिए हर घर जल अभियान पर तेजी से काम हो रहा है। 

पीएम मोदी बोले-साफ-सफाई और स्वास्थ्य से जुड़ा जो इंफ्रास्ट्रक्चर यूपी में तैयार हो रहा है। आज यूपी में गांवों के स्वास्थ्य केंद्र हों, मेडिकल कॉलेज हों, एम्स हो, मेडिकल इंफ्रास्ट्रक्चर में अभूतपूर्व सुधार हो रहा है।

पीएम मोदी बोले-इस समय भी इस क्षेत्र में लगभग 8,000 करोड़ रुपये की परियोजनाओं पर काम चल रहा है। नए प्रोजेक्ट, नए संस्थान, काशी की विकास गाथा को और जीवंत बना रहे हैं। काशी की मां गंगा की स्वच्छता और सुंदरता हम सभी की आकांक्षा भी, प्राथमिकता हो। इसके लिए सड़क, सीवेज ट्रीटमेंट, घाटों का सुंदरीकरण, ऐसे हर मोर्चे पर काम हो रहा है। 

पीएम मोदी बोले-काशी नगरी आज पूर्वांचल का बहुत बड़ा मेडिकल हब बन रही है। जिन बीमारियों के इलाज के लिए दिल्ली और मुंबई जाना पड़ता था, उनका इलाज अब काशी में भी उपलब्ध है। मेडिकल इंफ्रास्ट्रक्चर में कुछ और सेवाएं जुड़ रही हैं
 

पीएम मोदी बोले-कोरोना की दूसरी लहर को यूपी ने अच्‍छे से संभाला: पीएम मोदी ने कहा कि आज लंबे समय के बाद वाराणसी के लोगों से सीधी मुलाकात का अवसर मिला है। वाराणसी के विकास के लिए जो कुछ भी हो रहा है, वो सबकुछ महादेव के आशीर्वाद से हो रहा है। कोरोना काल के बीच भी काशी ने दिखा दिया कि वो रुकती नहीं है। काशी थकती नहीं है। कोरोना की दूसरी लहर ने पूरी ताकत के साथ हमला किया। लेकिन वाराणसी और उत्तर प्रदेश ने इसका मुकाबला किया। उत्तर प्रदेश की आबादी दुनिया के कई बड़े देशों से भी ज्यादा है। उस यूपी ने कोरोना की दूसरी लहर को बेहतर तरीके से संभाला है। पीएम मोदी ने कहा कि यूपी के लोगों ने वो दौर भी देखा है। जब दिमागी बुखार का सामना करने में मुश्किल आती थीं। पहले के दौर में स्वास्थ्य सुविधाओं की कमी और इच्छा शक्ति के अभाव में छोटे संकट भी बड़े लगते थे। 

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि उत्‍तर प्रदेश में कोरोना के सबसे ज्यादा टेस्ट हुए हैं। सबसे ज्यादा टीके भी उत्‍तर प्रदेश में ही लगे हैं। सभी को मुफ्त वैक्सीन दी जा रही है। उत्‍तर प्रदेश में मेडिकल कॉलेज की संख्या चार गुनी हो गई है। जबकि करीब साढ़े पांच सौ से अधिक ऑक्सीजन प्लांट प्रदेश में लगाए जा रहे हैं। आज वाराणसी में ही 14 प्लांट की शुरुआत हो गई है।

पीएम मोदी ने भोजपुरी में की भाषण की शुरुआत
लंबे समय बाद आप सब लोगन से सीधा मुलाकात के अवसर मिलल हौ। काशी के सभी लोगन के प्रणाम। हम समस्त लोग के दुख हरे वाले भोलेनाथ, माता अन्नपूर्णा के चरण भी शीश झुकावत हईं।

पीएम मोदी ने दी सौगात: पीएम ने बटन दबाकर 1583 करोड़ की 280 योजनाओं का लोकार्पण और शिलान्‍यास किया।इसके बाद कार्यक्रम में इन योजनाओं के बारे में एक छोटी फिल्‍म का प्रदर्शन किया गया। इसमें योजनाओं के बारे में विस्‍तार से जानकारी दी गई।  

सीएम योगी बोले-पीएम मोदी के नेतृत्‍व में काशी की नई पहचान बनी: सीएम योगी ने कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी का स्‍वागत करते हुए कहा कि उनके नेतृत्‍व में काशी की दुनिया में नई पहचान बनी है। उन्‍होंने कहा कि नई काशी दुनिया के लिए प्रेरणा है। प्रधानमंत्री जी को कोरोना काल में लगातार वाराणसी की चिंता हो रही थी। वह लगातार संवाद करते रहे। सीएम ने काशी और उत्‍तर प्रदेश की ओर से प्रधानमंत्री के प्रति आभार व्‍यक्‍त किया।

पीएम मोदी बीएचयू पहुंचे- प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी बाबतपुर एयरपोर्ट से कार्यक्रम स्‍थल बीएचयू पहुंच चुके हैं। यहां पहले से मौजूद नेताओं ने उनका स्‍वागत किया। यहां वह एक जनसभा को संबोधित करने के बाद वह कोरोना की तीसरी लहर के बाबत डॉक्टरों से संवाद करेंगे। 

-एयरपोर्ट से बीएचयू जा रहे हैं पीएम मोदी: पीएम मोदी वाराणसी एयरपोर्ट से वायुसेना के हेलीकॉप्‍टर से 10:50 बजे कार्यक्रम स्‍थल के लिए रवाना हो गए हैं।इसके पहले राज्‍यपाल आनंदीबेन पटेल और सीएम योगी आदित्‍यनाथ ने एयरपोर्ट पर उनका स्‍वागत किया। इस बीच वाराणसी प्रशासन पूरी तरह सतर्क है। इस बीच पुलिस ने पीएम के संपूर्णानंद यूनिवर्सिटी आने से पहले कार्यक्रम स्थल से रुद्राक्ष कन्वेंशन सेंटर तक जहां भी दुकानें खुली थी उन्हें बंद कराने के साथ ही लोगों को सड़क पर भीड़ न लगाने की हिदायत दी। सम्पूर्णानंद संस्कृत विश्वविद्यालय के बाहर की सड़क पर किसी को भी रुकने नहीं दिया जा रहा है। 

-पीएम मोदी वाराणसी पहुंचे, सीएम योगी ने की अगवानी: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी वायुसेना के विशेष विमान से एयरपोर्ट पहुंच गए हैं। एयरपोर्ट के एप्रन पर उनका स्वागत किया गया। प्रधानमंत्री के स्‍वागत के लिए राज्यपाल आनंदीबेन पटेल, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, मंत्री आशुतोष टंडन, राधामोहन सिंह सांसद समेत कई नेता मौजूद रहे। इस दौरान पूरा एयरपोर्ट परिसर छावनी में तब्‍दील कर दिया गया है। एयरपोर्ट के चारों ओर और पूरे वाराणसी में चप्‍पे-चप्‍पे पर सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं। 

-प्रदर्शन की तैयारी कर रहे सपाई हिरासत में: पिंडरा तहसील पर सपा के धरना प्रदर्शन के पहले ही पुलिस ने एक दर्जन पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं को हिरासत में ले लिया। 

-सिर्फ पासधारकों को प्रवेश: पीएम के आगमन के पहले बीएचयू के प्रमुख प्रवेश द्वारों पर सिर्फ पास धारकों को प्रवेश मिल रहा। कार्यक्रम स्थल से हेलीपैड तक पुलिस छावनी में तब्दील। हेलीपैड की तरफ मीडियाकर्मियों से लेकर बिना सूची में शामिल जनप्रतिनिधियों का जाना वर्जित कर दिया गया।

-उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पहुंचे वाराणसी एयरपोर्ट: पीएम मोदी कुछ देर में वाराणसी के बाबतपुर एयरपोर्ट पहुंचेंगे। वहां राज्यपाल आनंदीबेन पटेल और सीएम योगी आदित्‍यनाथ उनकी अगवानी के लिए मौजूद रहेंगे। राज्यपाल आनंदी बेन पटेल और सीएम योगी  एयरपोर्ट पर पहुंच गए हैं। 

-रुद्राक्ष पर लहराने लगे भारत-जापान के ध्वज: अंतरराष्ट्रीय सहयोग एवं सम्मेलन केंद्र रुद्राक्ष का पीएम नरेंद्र मोदी उद्घाटन करेंगे। रुद्राक्ष में बुधवार को सारी तैयारियां पूरी कर ली गईं। जापानी स्टाइल में छतरियां लगाई गईं हैं जो इसे और भी खूबसूरत बना रही हैं। रंग-बिरंगी इन छतरियों से रुद्राक्ष में जापानी संस्कृति की झलक देखने को मिल रही है। रुद्राक्ष में अल्युमिनियम से बने 108 रुद्राक्ष लगाए गये हैं। स्टील से बने शिवलिंग के आकार में इसका मुख्य भाग है। इसमें आग से सुरक्षा के लिए आधुनिक सेंसर लगाए गये हैं। रुद्राक्ष में 1200 लोगों के बैठने की क्षमता वाला मल्टीपरपज हॉल है जहां वियतनाम से कुर्सियां मंगाई गई हैं।

तीन कुंतल गेंदे के फुल से सजा मंच और पंडाल: आईआईटी बीएचयू के राजपुताना ग्राउंड को फूलों से सजाया गया है। पीएम के मंच और पंडाल को तीन कुंतल गेंदे के फूल से सजाया गया है। इसके लिए दिल्ली से कारिगर बुलाए गए थे। बुधवार को दिन भर उन्होंने मंच सजाने के लिए माला तैयार की। देर शाम मंच और पंडाल को माला से सजाया गया। पंडाल और पीएम के मंच के बीच के स्थान पर फूलों की रंगोली गुरुवार को सुबह बनाई जाएगी। रंगोली बनाने के लिए 25 किलो गुलाब, 10 किलो स्टार सफेदी, 18 किलो बसंती के फूल लगेंगे।

आज मेगा डायवर्जन, इन मार्गों पर ध्यान दें: पीएम के कार्यक्रम में मद्देनजर गुरुवार को मेगा डायवर्जन लागू किया गया है। पीएम के आगमन के 15 मिनट पहले ही संबंधित मार्गों पर आवागमन रोक दिया जाएगा। प्रमुख मार्ग चौकाघाट-तेलियाबाग मरीमाई -मलदहिया चौराहा सिगरा थाना-साजन चौराहा, बीएचयू कैम्पस के अन्दर के मार्गों पर न जाने के लिए कहा गया है। अति आवश्यक होने पर वैकल्पिक मार्गों से जाने की सलाह दी गई है। शव वाहन और एंबुलेंस प्रतिबंध से मुक्त रहेंगे।

– प्रधानमंत्री सुबह 11 बजे मंच पर पहुंचेंगे। यहां उनके साथ मंच पर बाएं तरफ राज्यपाल आनंदीबेन पटेल, कैबिनेट मंत्री अनिल राजभर और राज्यमंत्री (स्वतंत्र  प्रभार) रवींद्र जायसवाल और दाएं मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, राज्यमंत्री (स्वतंत्र  प्रभार) नीलकंठ तिवारी व भाजपा प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्रदेव सिंह रहेंगे। मुख्यमंत्री स्वागत भाषण करेंगे। इसके बाद पीएम रिमोट कंट्रोल से परियोजनाओं का लोकार्पण व शिलान्यास करेंगे। इसके बाद इन परियोजनाओं से मिलने वाले लाभ पर तीन मिनट के वीडियो क्लीप का प्रसारण होगा। प्रधानमंत्री करीब आधा घंटा जनसभा को संबोधित करेंगे। 

– पीएम दोपहर करीब सवा 12 बजे एमसीएच विंग भवन पहुंचेंगे। यहां पीएम के साथ राज्यपाल और मुख्यमंत्री भी होंगे। सबसे पहले पीएम अस्पताल के भूतल और पहले तल पर पीडियाट्रिक वार्ड का निरीक्षण व सुविधाओं का अवलोकन करेंगे। फिर रजिस्ट्रेशन एरिया का भ्रमण करेंगे। तत्पश्चात वह डीएम, आईएमएस के निदेशक, सीएमओ, आईएमए के उपाध्याक्ष सहित अन्य डॉक्टरों से संवाद करेंगे। पीएम के सामने प्रेजेंटेशन भी होगा। प्रधानमंत्री का यहां करीब 20 मिनट का संबोधन होगा। 

– प्रधानमंत्री का रुद्राक्ष भवन में दोपहर पौने दो बजे आगमन होगा। सबसे पहले वह भवन के बाहर पार्क में रुद्राक्ष का पौधा लगाएंगे। फिर रुद्राक्ष के शिलापट्ट का अनावरण करेंगे। वह प्रदर्शनी व गैलरी में सुविधाओं का जायजा लेंगे। सभागार में मुख्यमंत्री दुपट्टा और मोमेंटो देकर पीएम का अभिनंदन करेंगे। इसके बाद इस परियोजना का वीडियो क्लिप दिखाया जाएगा। फिर जापान के प्रधानमंत्री के रिकॉर्डेड भाषण का प्रसारण होगा। अंत में प्रधानमंत्री करीब पौन घंटे तक वहां मौजूद सभ्रांत लोगों को संबोधित करेंगे।