Jansandesh online hindi news

झारखंड सरकार को हाईकोर्ट ने लगायी जमकर फटकार, कहा-जब लोग श्मशान पहुंच जाएंगे, तब आप जागेंगे? 

हाई कोर्ट ने प्रदेश में बढ़ते कोरोना के केसों को देखते हुए प्रदेश सरकार को जमकर फटकारा। दरअसल, हाई कोर्ट ने रिम्स में मेडिकल संसाधनों की कमी तथा कोरोना से निपटने के लिए व्यवस्था की समीक्षा की, जिसके पश्चात् प्रदेश सरकार से नाराजगी व्यक्त की गई। कोर्ट ने कड़ी टिप्पणी करते हुए प्रदेश सरकार से पूछा कि क्या जब लोग श्मशान पहुंच जाएंगे, तब आप जागेंगे? 
 | 
झारखंड सरकार को हाईकोर्ट ने लगायी जमकर फटकार, कहा-जब लोग श्मशान पहुंच जाएंगे, तब आप जागेंगे? 

हाई कोर्ट ने प्रदेश में बढ़ते कोरोना के केसों को देखते हुए प्रदेश सरकार को जमकर फटकारा। दरअसल, हाई कोर्ट ने रिम्स में मेडिकल संसाधनों की कमी तथा कोरोना से निपटने के लिए व्यवस्था की समीक्षा की, जिसके पश्चात् प्रदेश सरकार से नाराजगी व्यक्त की गई। कोर्ट ने कड़ी टिप्पणी करते हुए प्रदेश सरकार से पूछा कि क्या जब लोग श्मशान पहुंच जाएंगे, तब आप जागेंगे? 

प्राप्त खबर के अनुसार, रांची के राजेंद्र इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज (रिम्स) में जीनोम सीक्वेंसिंग मशीन समेत उचित उपकरणों की कमी को लेकर दायर एक जनहित याचिका पर सुनवाई करते हुए हाई कोर्ट ने मौखिक अवलोकन किया। चिकित्सा उपकरणों की खरीद में रिम्स के दृष्टिकोण पर हाई कोर्ट ने निराशा व्यक्त की। चीफ जस्टिस रवि रंजन तथा जस्टिस सुजीत नारायण प्रसाद की खंडपीठ ने पूछा कि क्या जीनोम सीक्वेंसिंग मशीन पूरे प्रदेश में कोरोना संक्रमण के ओमिक्रॉन वैरिएंट के फैलने के पश्चात् ही खरीदी जाएगी। 

उन्होंने पूछा, 'ऐसा क्यों है कि कोर्ट को प्रदेश सरकार को उसकी जिम्मेदारियों का एहसास कराना पड़ रहा है?' कोर्ट ने सरकार तथा हॉस्पिटल को जीनोम सीक्वेंसिंग मशीन की खरीद की स्थिति के सिलसिले में हलफनामा दाखिल करने का निर्देश दिया। कोर्ट ने इस बात पर भी नाराजगी जताई कि रिम्स में दवा की एक भी दुकान नहीं है। ऐसे में रोगियों को बाहर से दवा खरीदने के लिए विवश होना पड़ता है। 

Text Example

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।