Jansandesh online hindi news

Omicron संक्रमित होने पर दिखते हैं ये लक्षण

एक्सपर्ट्स के मुताबिक, Omicron के सबसे पहले लक्षणों में एक Scratcy Throat होना है. इसमें आपका गला अंदर से छिल जाता है. जबकि डेल्टा वैरिएंट से संक्रमित होने पर लोगों को गले में खराश (Soar Throat) की समस्या होती थी. डिसकवरी हेल्थ, साउथ अफ्रीका के चीफ एग्जीक्यूटिव Ryan Roach ने कहा कि नाक बंद होने, सूखी खांसी और पीठ में नीचे की तरफ दर्द होने की समस्या का सामना Omicron से पीड़ित लोगों को करना पड़ रहा है.

 
 | 
Omicron संक्रमित होने पर दिखते हैं ये लक्षण

नई दिल्ली। कोरोना वायरस (Coronavirus) के नए वैरिएंट Omicron के लक्षण डेल्टा वैरिएंट (Delta Variant) की तुलना में जल्दी दिख जाते हैं, ऐस संकेत मिल रहे हैं. बताया जा रहा है कि Omicron की वजह से बीमार होने से पहले ही आप इसके लक्षण को महसूस करने के साथ सुन भी सकते हैं.

द सन में छपी एक रिपोर्ट के मुताबिक, अगर आपकी आवाज में खराश हो गई है. आप तेजी से चिल्ला या गा नहीं पा रहे हैं तो ये चिंता का विषय हो सकता है. आपको ध्यान देना होगा कि आपकी आवाज में क्या कोई बदलाव आया है.

एक्सपर्ट्स के मुताबिक, Omicron के सबसे पहले लक्षणों में एक Scratcy Throat होना है. इसमें आपका गला अंदर से छिल जाता है. जबकि डेल्टा वैरिएंट से संक्रमित होने पर लोगों को गले में खराश (Soar Throat) की समस्या होती थी.

डिसकवरी हेल्थ, साउथ अफ्रीका के चीफ एग्जीक्यूटिव Ryan Roach ने कहा कि नाक बंद होने, सूखी खांसी और पीठ में नीचे की तरफ दर्द होने की समस्या का सामना Omicron से पीड़ित लोगों को करना पड़ रहा है.

Omicron पर रिपोर्ट्स में किया गया ये दावा
हालांकि कुछ रिपोर्ट्स में ये दावा किया गया है कि Omicron, डेल्टा वैरिएंट की तुलना में कम खतरनाक है. यूनाइटेड किंगडम की पहली आधिकारिक रिपोर्ट के अनुसार, Omicron से संक्रमित होने के बाद डेल्टा वैरिएंट के मुकाबले 50 से 70 फीसदी कम लोग हॉस्पिटल में एडमिट हुए.

UKHSA के चीफ एग्जीक्यूटिव डॉक्टर जेनी हैरिस ने कहा कि एक बार फिर हम उन सभी ब्रिटिश नागरिकों से आग्रह करते हैं जिन्होंने अभी तक बूस्टर डोज नहीं ली है, वे जल्‍द से जल्‍द इसे ले लें क्‍योंकि Omicron से बचाव का ये सबसे अच्छा माध्यम है.

Text Example

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।