आचार्य चाणक्य: युवाओं को नहीं करने चहिए ये काम

जनसंदेश ऑनलाइन ताजा हिंदी ख़बरें सबसे अलग आपके लिए

  1. Home
  2. अध्यात्म एवं ज्योतिष

आचार्य चाणक्य: युवाओं को नहीं करने चहिए ये काम

Image


डेस्क।  आचार्य चाणक्य एक महान विद्वान होने के साथ-साथ एक अच्छे शिक्षक भी थे और आचार्य चाणक्य ने अपनी नीतियों के बल पर एक साधारण से बालक चंद्रगुप्त को सम्राट भी बनाया था।
नीति शास्त्र में लगभग हर क्षेत्र से संबंधित बातों का उल्लेख किया गया है। और आचार्य चाणक्य ने धन, परिवार, व्यापार, रिश्तों से संबंधित कई बातों के बारे में भी जिक्र किया है वहीं इन नीतियों का पालन करके व्यक्ति अपने जीवन को सफल बना सकता है साथ ही ये नीतियां आज भी उतनी ही प्रासंगिक हैं जितनी की पहले के समय में हुआ करती थीं।

बहुत से युवा आज भी आचार्य चाणक्य द्वारा बताई गई नीतियों का पालन करते हैं और आचार्य चाणक्य ने कुछ ऐसी गलतियों के बारे में भी जिक्र किया है जिन्हें व्यक्ति को भूलकर भी नहीं करना चाहिए और इससे आपको बाद में इससे पछताना भी पड़ सकता है तो आइए जानें कौन सी हैं वो गलतियां.

बुजुर्गों और महिलाओं का अपमान न करें –
 आचार्य चाणक्य के अनुसार जो लोग बुजुर्गों और महिलाओं का अपमान करते हैं वे जीवन में कभी भी सुख नहीं पाते हैं।

और ऐसे लोगों के घर में देवी लक्ष्मी का वास नहीं होता है। इससे घर में कलह बनी रहती है और ऐसे लोग एक-एक पैसे के लिए दूसरों के मोहताज भी हो जाते हैं। वहीं इसलिए कभी भी बुजुर्गों और महिलाओं का अपमान न करें।

समय बर्बाद न करें – 
आचार्य चाणक्य के अनुसार जो व्यक्ति समय की कद्र करता है तो समय भी उसकी कद्र करता है।

ऐसे लोगों पर सदा देवी लक्ष्मी की कृपा बनी रहती है और कभी भी व्यर्थ में अपना समय बर्बाद न करें वहीं इससे आपको आर्थिक तंगी का सामना करना पड़ सकता है।

बुरी आदतों से दूर रहें – आचार्य चाणक्य के अनुसार जो लोग नशे या फिर किसी अन्य बुरी आदतों में लिप्त भी होते हैं उनका जीवन बर्बाद हो जाता है और ऐसे लोगों के पास धन भींनहीं टिकता है। और ये लोग एक-एक पैसे के लिए तरसते हैं वहीं इसलिए कभी भी बुरी आदतों में न पड़ें।

और पढ़ें -

राष्ट्रीय

उत्तर प्रदेश