Jansandesh online hindi news

आज से खुले बाबा बद्री के कपाट, भारी संख्या में पहुंचे श्रद्धालु

 | 
Image

डेस्क। ग्रीष्मकाल के लिए बदरीनाथ मंदिर के कपाट रविवार को ब्रह्ममुहुर्त में 6:15 बजे खोल दिए गए। 

श्रद्धालु अगले छह महीने मंदिर में भगवान बदरीनाथ के दर्शन कर सकेंगे। इस पावन मौका का साक्षी बनने के लिए भारी संख्या में श्रद्धालु बदरीनाथ धाम पहुचे।

IMage

जानिए मंदिर से जुड़ी कथा

बद्रीनाथ मंदिर से जुड़ी मान्यता है कि भगवान विष्णु ने इस क्षेत्र में कठोर तप किया था। उस समय देवी लक्ष्मी ने बदरी यानी बेर का पेड़ बनकर विष्णु जी को छाया प्रदान की दी और मौसमी समस्याओं से विष्णु जी की रक्षा भी की थी। 

Image

लक्ष्मी जी के इस सर्मपण भाव से प्रसन्न होकर विष्णुजी ने इस जगह को बद्रीनाथ नाम दिया और यह स्थान इसी नाम से प्रसिद्ध होने हुआ।

IMage

बद्रीनाथ धाम में विष्णु जी की करीब एक मीटर ऊंची प्रतिमा है। बता दें कि विष्णु जी की ये मूर्ति ध्यान की मुद्रा में है। इसके साथ ही यहां कुबेर देव, लक्ष्मी-नारायण की प्रतिमाएं भी स्थापित हैं।

Image

मंदिर में विष्णु जी के पांच स्वरूपों की पूजा होती है। विष्णु जी के इन पांच स्वरूपों को पंचबद्री के नाम से जाना जाता हैं। बद्रीनाथ के मुख्य मंदिर के अलावा अन्य चार स्वरूपों भी इस मंदिर में स्थापित हैं।

Text Example

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।