धैर्य ही जीवन है:- आचार्य चाणक्य

जनसंदेश ऑनलाइन ताजा हिंदी ख़बरें सबसे अलग आपके लिए

  1. Home
  2. अध्यात्म एवं ज्योतिष

धैर्य ही जीवन है:- आचार्य चाणक्य

Acharya Chanakya


आध्यत्मिक- यदि आप छोटी छोटी बातों से नाराज हो जाते हैं। कुछ आपके मन का नहीं होता है तो आपकी व्याकुलता बढ़ जाती है और आप शांत होकर विचार करने में असमर्थ रहते हैं। तो आपको अपने जीवन मे काफी समस्याओं का सामना करना पड़ता है। क्योंकि व्यक्ति के सुखी और बेहतर जीवन के लिए धैर्य सबके अधिक महत्वपूर्ण है।
आचार्य चाणक्य के मुताबिक यदि कोई व्यक्ति धैर्य रखना जानता है। तो वह अपने जीवन मे सफल होना जानता है। धैर्य व्यक्ति के सफल होने और उसके जीवन मे सुख समृद्धि का आगमन करने में अहम भूमिका निभाता है। धैर्य आपके जीवन का सबसे अहम आयाम है जो आपको सकारात्मक बनाता है और आपके आगे बढ़ने के सभी मार्ग खोलता है।
आचार्य चाणक्य के मुताबिक यदि आप धैर्य रखते हैं और आपको जीवन मे जो हासिल होता है उससे संतुष्ट रहते हैं तो आपको जीवन मे कभी दुखों का सामना नहीं करना पड़ता है। वहीं आप अपने धैर्य के बलबूते पर अपनी सफलता का मार्ग बनाते हैं और दुख से दूर रहकर सदैव सकारात्मक चीजों के साथ आगे बढ़ते हैं।

और पढ़ें -

राष्ट्रीय

उत्तर प्रदेश