केवल सोने के मिलते हैं 28 लाख, सोशल मीडिया पर अजब गजब इन्फ्लुएंसर

जनसंदेश ऑनलाइन ताजा हिंदी ख़बरें सबसे अलग आपके लिए

  1. Home
  2. रोचक खबरें

केवल सोने के मिलते हैं 28 लाख, सोशल मीडिया पर अजब गजब इन्फ्लुएंसर

Image


डेस्क। सोशल मीडिया पर कई तरह के लोगों की कहानियां वायरल होती हैं। आजकल सोशल मीडिया इन्फ्लुएंसर बनकर लोग महीने के लाखों भी कमा रहे हैं। जहां कोई फिटनेस, तो कोई डांस तो कई लोग तरह-तरह की रील्स बनाकर सोशल मीडिया पर कमाई करने में जुटे रहते हैं।
वहीं आप यह जानकर भी हैरान हो जाएंगे कि एक शख्स ना तो डांस करता है, ना ही किसी तरह की अनोखी कला का प्रदर्शन करता है, पर फिर भी ये महीने के 28 लाख रुपये कैसे कमा लेता है। ये शख्स सिर्फ सोते हुए वीडियो बनाने के महीनों के लाखों रुपये कमा रहा है वहीं शख्स के इस टेलेंट से वो सालाना करोड़ों रुपये की कमाई भी कर रहा है। 
बता दें जैकी के इस टेलेंट के बारे में जानकर सभी लोग हैरान हैं। वहीं कई मीडिया चैनलों ने जैकी को उनके इस अजब टैलेंट को लेकर इंटरव्यू भी किया है। वहीं इस दौरान उन्होंने जो बताया वो दिलचस्प होने के साथ ही हैरानी भरा भी रहा।
जैकी बोहम नाम का ये इंफ्लुएंसर ऑस्ट्रेलिया के गोल्ड कोस्ट में रहता है। साथ ही जैकी को टिकटॉक पर 10 लाख से भी ज्यादा लोग फॉलो भी करते हैं। जैकी को लोग बेहद पसंद करते हैं और पेशे से वे वेब डेवलपर हैं।
अब आपको बताते हैं कि जैकी पैसा कैसे कमाते हैं तो The Australian की एक खबर की माने तो जैकी हर रात तकरीबन 10 बजे नाइट सूट पहनकर सोने चले जाते हैं। और वे इसे लाइव करते हैं। अब लोगों को जैकी को उठाने के लिए पेमेंट करनी होती है, जैकी के सोने के वक्त उनके व्यूअर्स वर्चुअल गिफ्ट्स खरीदते हैं जिस से आवाज होती है और उनके कमरे की लाइट ऑन हो जाती है। वहीं इस कमरे में जैकी सो रहे होते हैं। और ऐसे ही जैकी अपनी कमाई करते हैं। ये पूरा एक्सपीरियंस जैकी के फैंस के लिए किसी वीडियो गेम के जैसा होता है।
आपको बता दें इस पूरे काम के लिए जैकी ने एक ऑनलाइन सेटअप किया है, जिसका तकरीबन 30 हजार रुपये का खर्चा आया है और फैंस सिर्फ 5 मिनट के लिए ही उनके कमरे की लाइट ऑन भी कर सकते हैं।
आपको बता दें ऑनलाइन पेमेंट होने के बाद इसका अलर्ट और टिकटॉकर्स और जैकी के पास चला जाता है।
जैकी का कहना है कि इस काम ने उनकी जिंदगी को पूरी तरह से बदल दिया है। वहीं वे अपने घर के लिए पैसे जमा कर रहे हैं। इतना ही नहीं, वे मानसिक स्वास्थ्य संगठनों से भी जुड़े हुए हैं जहां पर वे अपनी कमाई का कुछ हिस्सा दान में देते हैं।
Text Example

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।

और पढ़ें -

राष्ट्रीय

उत्तर प्रदेश