Jansandesh online hindi news

प्रथा के चलते यहां शादी के लिए लड़कियों को उठा ले जाते हैं पुरुष, रोकने की हर कोशिश रही नाकाम

 | 
Image

 

 

डेस्क। दुनिया के हर देश की अपनी अलग परंपरा और रीति-रिवाज होते हैं। कई देशों की परंपराओं के बारे में जानकर आप हैरान भी हो जाएंगे। हम आपको आज ऐसे ही एक देश की एक अनोखी और हैरतअंगेज परंपरा के बारे में बताएंगे। जिसको सुनने के बाद आपके पैरों तले से जमीन खिसक जाएगी।

यह परंपरा इतनी ऊटपटांग है कि जिसके बारे में आपने आज तक नहीं सुना होगा। हम बात करने जा रहे हैं इंडोनेशिया के सुंबा आइलैंड की एक परंपरा के बारे में। इस जगह को अपनी खूबसूरती के अलावा पूरी दुनिया में अपनी विवादास्पद प्रथाओं के लिए भी जाना जाता है। ऐसे ही एक प्रथा है कि इस आइलैंड पर शादी करने के लिए लड़कियों को अगवा किया जाता है।

बता दें कि इस प्रथा को खत्म करने के लिए हर संभव प्रयास किए जा रहे हैं। यहां से शादी के लिए लड़की के अपहरण की कहानियां सामने आती है। बता दें कि यहां कुछ लोगों ने एक बच्ची का अपहरण कर लिया। 

इस प्रथा को यहां पर कविन तांगकाप कहा जाता है, जो सुंबा द्वीप पर एक विवादास्पद प्रथा के रूप में फॉलो की जाती रही है। इस प्रथा की उत्पत्ति कहां से हुई, इसको लेकर भी विवाद हैं। इस प्रथा में महिलाओं से शादी करने के इच्छुक पुरुषों के परिवार या दोस्तों को जबरदस्ती अपहरण कर ले जाया जाता है।

बता दें यहां पर महिला अधिकार समूह लंबे समय से इस प्रथा को रोकने की मांग कर रहे हैं। इसके बावजूद सुंबा के कुछ हिस्सों में यह फॉलो की जाती है। हाल में ही दो महिलाओं के अपहरण की घटना के वीडियो में कैद होने और सोशल मीडिया पर तेजी से फैलने के बाद केंद्र सरकार हरकत में आ गई और अब इस पर सख्ती से काबू करने की कोशिश की जा रही है।

बता दें कि महिला अधिकार समूह पेरूती ने पिछले चार वर्षों में महिलाओं के अपहरण की सात ऐसी घटनाएं भी दर्ज की हैं। जहां समूह का मानना ​​है कि इस दौरान द्वीप के सुदूर इलाकों में और भी कई ऐसी घटनाएं हो सकती हैं। 

हाल में यहां से तीन अपहरण के मामले सामने आए थे जिसमें से एक ने इस तरह से हुई शादी में रहने का फैसला मान लिया। रिपोर्ट के अनुसार पेरूवियन की स्थानीय प्रमुख अप्रिसा तरानाउ कहती हैं, 'वह शादियां इसलिए करती हैं क्योंकि उनके पास कोई विकल्प नहीं है। 

Text Example

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।