बनाया गया महाबाहुबली समोसा, दो सौ लोग मिलकर करेंगे खत्म

जनसंदेश ऑनलाइन ताजा हिंदी ख़बरें सबसे अलग आपके लिए

  1. Home
  2. रोचक खबरें

बनाया गया महाबाहुबली समोसा, दो सौ लोग मिलकर करेंगे खत्म

Image


डेस्क। जो लोग खाने के शौकन है उनके लिए ये खबर बेहद ही महत्वपूर्ण साबित हो सकती है। इस कड़ी में मेरठ में बाहुबली समोसे के बाद अब शहर में 10 किलो का महाबाहुबली समोसा भी तैयार किया गया है। जिसको खाने वाले को 71 हजार रुपये का इनाम भी दिया जाएगा। इस समोसे को बनाने में तकरीबन छह घंटे का वक्त लगा है और अब बस इसे कढ़ाई में तला जाना बाकी है। महाबाहुबली समोसे को देखने के लिए दूर दराज से लोग यहां पहुंच भी रहे हैं। इसके साथ ही लोग यह भी सोच रहे हैं कि आखिर इस विशालकाय समोसे को कौन खा सकता है। वहीं दुकान संचालक के अनुसार समोसा बनाने के लिए तैयार की गई फिलिंग में भी काफी समय लगा है। जिसके लिए काफी कारीगरों को काम पर लगाया गया था।
लालकुर्ती स्थित कौशल स्वीट्स के संचालक उज्जवल ने यह भी बताया कि महाबाहुबली समोसे में चार किलो पनीर, मटर और आलू भरा हुआ है। वहीं इसमें साढ़े तीन किलो मैदा लगाई गई। इससे पहले भी दुकान पर आठ किलो का समोसा तैयार किया गया था जिसको खाने वाले के लिए 51 हजार रुपये का इनाम रखा गया था। इसी के साथ समोसा छह घंटे में तैयार किया गया है।
इसकी फीलिंग बनाने के लिए दस किलो के महाबाहुबली समोसे को बनाने में सबसे मुश्किल काम इसकी फिलिंग बनाना था। वहीं बताया गया है कि फिलिंग बनाने के लिए पहले आलुओं को धोकर उबाला गया और फिर उन्हें ठंडा कर छीला गया और मैश किया गया।
फिर मैश किए गए आलुओं को रिफाइड डालकर सूखे मसाले जैसे हींग, धनिया, जीरा, गरम मसाला, लाल मिर्च पाउडर के साथ फ्राई करा गया। और इसमें उबले हुए मटर, कटी हरी मिर्च और कटा पनीर डाला गया। इसके बाद में इसमें काजू भी एड किए गए। 
इसके अलावा दो कारीगरों द्वारा तीन किलो मैदा में से एक बड़ी रोटी टेबल पर रखकर बेली गई और इसे समोसे का तिकोना रूप देकर इस फिलिंग को भरा भी गया है। साथ ही समोसे को एक ट्रे में रखकर सेट किया गया और जिसके बाद इसे कढ़ाई में रिफाइंड डालकर तला जाना है।
आपको याद होगा कि 10 किलो के इस समोसे को दो सौ लोग आराम से खा सकते हैं। उन्होंने बताया कि इससे पहले दिवाली के समय बनाया गया आठ किलो का समोसा डेढ़ सौ लोगों ने मिलकर खाया था। अब वह पांच किलो की जलेबी बनाने की तैयारी भी कर रहे हैं।

और पढ़ें -

राष्ट्रीय

उत्तर प्रदेश