मैप पर दिखती है बिल्डिंग, असल में नहीं है अस्तित्व तो लोग बोले भूत

जनसंदेश ऑनलाइन ताजा हिंदी ख़बरें सबसे अलग आपके लिए

  1. Home
  2. रोचक खबरें

मैप पर दिखती है बिल्डिंग, असल में नहीं है अस्तित्व तो लोग बोले भूत

Image


डेस्क। वैसे तो भूतों के बारे में लोगों की अलग-अलग राय होती है। कुछ लोग भूतों पर विश्वास करते हैं और कुछ लोग इसे सिर्फ एक भ्रम मानते हैं। वहीं कई लोगों ने भूत देखने का दावा भी किया है। इसके आलावा कुछ लोगों ने उनके साथ डरावने अनुभव भी शेयर किए हैं। बता दें मैनचेस्टर में लोगों को भूतों की दुनिया के सबूत भी मिले हैं।
बता दें ऐसा ही हैरान करने वाला इसका सबूत उन्हें गूगल मैप्स पर मिला। सोशल मीडिया पर कुछ तस्वीरें शेयर की गईं, जिनमें कुछ भव्य इमारतें दिखाई गईं हैं। पर खास बात यह है कि यह बिल्डिंग सिर्फ गूगल मैप्स पर ही नजर आती है। और वास्तव में उस स्थान पर ऐसा कोई भवन नहीं है।
एक ट्विटर यूजर Kimberly ने एक स्क्रीनशॉट शेयर किया है जिसमें गूगल मैप्स पर मैनचेस्टर ब्रिज स्ट्रीट के पास और स्थानीय मजिस्ट्रेट कोर्ट के पास लोरी होटल के पास कई भव्य इमारतें देख रही है। वहीं इन इमारतों को अजीब नाम फैंटम बिल्डिंग दिया गया था। और यह भी कहा गया कि गूगल मैप्स पर दिखने वाली ये इमारतें डरावनी हैं और हकीकत में इनका कोई अस्तित्व ही नहीं है।
भूत निर्माण
गूगल मैप्स पर इन प्रेतवाधित इमारतों को देखने के बाद कई लोगों ने इसे दूसरी दुनिया या आयाम की झलक दी। इन भूतिया इमारतों को सिर्फ गूगल मैप्स पर ही देखा जा सकता है। यह पहली बार नहीं है जब मैनचेस्टर में ऐसी इमारतें या भूतिया घटनाएं देखी गई हैं। यूएफओ से लेकर एलियंस तक देखे जाने के कई दावे पहले भी हो चुके हैं।
इसके बाद कई लोगों ने अपने कुछ ऐसे ही अनुभवो को साझा किया है। वहीं कई लोग भूतों को देखने और कभी-कभी यूएफओ देखने की सूचना भी दे रहे है। यहां रहने वाले दवे ने कहा कि वह 70 के दशक से अपसामान्य चीजें देख और सुन रहे हैं। वहीं मैनचेस्टर में कुछ ऐसा है, जिसका राज कभी सामने भी नहीं आया है।
Text Example

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।

और पढ़ें -

राष्ट्रीय

उत्तर प्रदेश