Jansandesh online hindi news

इस नदी में एक साथ बहता है पांच रंगों का पानी, देखकर उड़ जाते हैं होश

 | 
Image

डेस्क । वैसे तो आपने बारिश के मौसम में आसमान में इंद्रधनुष जरूर देखा होगा। इन्द्रधनुष में दिखने वाले सात रंगों की खूबसूरती को कुछ देख बैठकर निहारा भी होगा। पर क्या आप ये जानते हैं कि दुनिया में एक नदी ऐसी भी है जिसमें पांच रंगों का पानी इंद्रधनुष की तरह बहता नज़र आता है। इसको देखने के बाद लोगो की आँखे खुली की खुली ही रह जातीं थी।

बता दें कि यह सुनने के बाद आपको हैरानी भी हो सकती है, लेकिन यह एकदम सच है। इस नदी की खूबसूरती सभी को अपनी ओर मोहित कर देती है। इसके बारे में सोचने पर ही आपके मन मे इसके प्रति लालसा जाग उठेगी। इसे देखने के लिए दुनिया भर से लोग जाते हैं। 

Image

आज हम बात कर रहे हैं कैनो क्रिस्टल नदी की। यह नदी दक्षिण अमेरिका के कोलंबिया में है। कैनो क्रिस्टल्स नदी न केवल कोलंबियाई बल्कि पूरी दुनिया के लोगों को अपने रंगों के मायाजाल से चकित कर देती है। बता दें कि इस नदी में पांच अलग-अलग रंगों का पानी बहता है। इनमें पीला, हरा, लाल, काला और नीला रंग शामिल हैं। पानी के पांच रंगों के कारण इस नदी को पांच रंगों वाली नदी के नाम से भी जाना जाता है। इसके साथ ही इसे लिक्विड रेनबो के नाम से भी बुलाया जाता है।

पानी के पांच रंगों के कारण इस नदी को दुनिया की सबसे खूबसूरत नदी भी माना जाता है। इस तरल इंद्रधनुषी नदी की खूबसूरती जून के महीने से लेकर नवंबर के बीच देखने को मिलती है। इस समय इस नदी को देखने के लिए दूर-दूर से लोग यहां आते हैं।

आपको बता दें कि यहां के पानी का रंग कैसे बदलता है। आप हैरान हो जाएंगे ये जानकर की यहां नदी के पानी का रंग नहीं बदलता । बल्कि नदी में मौजूद एक मकाक क्लेविगेरा नाम का एक विशेष पौधा इस नदी में पानी का रंग बदलने का कारण है। इन पौधों की वजह से ही ऐसा लगता है मानो पूरी नदी प्राकृतिक रूप से रंगीन हो होकर इंद्रधनुषी हो गई हो। 

Image

यह पौधे नदी के तल पर मौजूद है। इस पौधे पर जैसे ही सूरज की रोशनी पड़ती है, इसके ऊपर की धारा सूखी लाल रंग की हो जाती है। धीमी और तेज रोशनी के आधार पर इस पौधे का रंग नदी के पानी पर परावर्तित होकर नज़र आता है। बैंगनी से लेकर चमकीले लाल तक सभी मिश्रित रंग दिन के अलग-अलग समय पर इस नदी में दिखाई देते हैं।

Text Example

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।