Jansandesh online hindi news

असम, गुजरात और कर्नाटक में 5 खाद्य प्रसंस्करण योजनाओं का शुभारंभ

इन पांच खाद्य प्रसंस्करण इकाइयों में से तीन गुजरात में और एक-एक कर्नाटक और असम में हैं।
 | 
jpg फाइल
राज्य मंत्री प्रल्हाद सिंह पटेल ने वर्चुअल माध्यम से 124 करोड़ रुपये की इन परियोजनाओं का उद्घाटन किया

केंद्र सरकार (central government) द्वारा आज असम (Assam), गुजरात (Gujarat) और कर्नाटक (Karnataka) में खाद्य प्रसंस्‍करण (Food Processing) की पांच परियोजनाओं की शुरूआत की गई है। बता दें कि, इन तमाम परियोजनाओं से किसानों (farmers) को काफी लाभ प्राप्त होगा।

 

इन पांच खाद्य प्रसंस्करण इकाइयों में से तीन गुजरात में और एक-एक कर्नाटक और असम में हैं। मंत्री ने उद्घाटन के मौके पर संवाददाताओं से कहा कि इन इकाइयों से 708 रोजगार के अवसरों के सृजन में मदद मिली है। साथ ही इनसे 7,600 किसानों को फायदा हुआ है। 

जानकारी के अनुसार, इससे रोजगार के भी कई अवसर मिलेंगे। वहीं, केंद्रीय खाद्य प्रसंस्करण उद्योग मंत्री पशुपति कुमार पारस (Pashupati Kumar Paras) और राज्य मंत्री प्रल्हाद सिंह पटेल (Pralhad Singh Patel) ने वर्चुअल माध्यम से 124 करोड़ रुपये की इन परियोजनाओं का उद्घाटन किया है। 

हालाँकि इस मौके पर खाद्य प्रसंस्‍करण उद्योग मंत्री पशुपति कुमार पारस ने बताया कि इन परियोजनाओं से सात हजार छह सौ से अधिक किसानों को लाभ होगा। साथ ही उन्होंने वताया कि खाद्य प्रसंस्करण उद्योग मंत्रालय खाद्य फसलों की बर्बादी को कम करने तथा किसानों और महिलाओं एंव युवाओं को रोजगार के अवसर प्रदान करने के लिए प्रतिबद्ध है।

पारस ने इस बात को रेखांकित किया कि अनाज, फलों और सब्जियों की बर्बादी को रोकने के अलावा रोजगार के अवसरों के सृजन तथा किसानों की आमदनी बढ़ाने के लिए खाद्य प्रसंस्करण क्षेत्र काफी महत्वपूर्ण है। उन्होंने कहा कि सरकार ने 42 विशाल फूड पार्कों को मंजूरी दी है। इनमें से 20 पहले से परिचालन में हैं जबकि शेष अगले दो-तीन साल में परिचालन में आ जाएंगे।

पारस ने कहा कि उनका मंत्रालय मिनी फूड पार्क और शीत भंडारण श्रृंखला बनाने पर भी ध्यान केंद्रित कर रहा है। मंगलवार को जिन पांच खाद्य प्रसंस्करण इकाइयों का शुभारंभ किया गया उनमें गुजरात के आणंद में फिनिक्स फ्रोजन (लागत 22.69 करोड़ रुपये), सूरत में एथोस कॉलेज (11.67 करोड़), हेन फ्यूचर नैचुरल प्रोडक्ट्स, तुमकुर-कर्नाटक (36.76 करोड़), असम के नलबारी में ग्रेनटेक फूड्स (19.32 करोड़ रुपये) तथा गुजरात के गांधीनगर में वसंत मसाला (34 करोड़ रुपये) शामिल हैं।

 

केन्द्रीय खाद्य प्रसंस्करण मंत्रालय ने फिनिक्स फ्रोजन को 8.02 करोड़ रुपये जबकि अन्य चार इकाइयों में प्रत्येक को पांच करोड़ रुपये उपलब्ध कराये हैं। पारस ने कहा कि मंत्रालय वर्तमान में खाद्य प्रसंस्करण सप्ताह मना रहा है।

Text Example

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।