उत्तराखंड में चीटिंग करने पर अब 10 सालों तक नहीं दे सकेंगे कोई भी परिक्षा

जनसंदेश ऑनलाइन ताजा हिंदी ख़बरें सबसे अलग आपके लिए

  1. Home
  2. अन्य राज्य

उत्तराखंड में चीटिंग करने पर अब 10 सालों तक नहीं दे सकेंगे कोई भी परिक्षा

Image


डेस्क। सीएम धामी (CM Dhami in Khatima) ने पटवारी पेपर लीक मामले पर बड़ा बयान (CM Dhami on Patwari paper leak case) दिया है। बता दें सीएम धामी ने कहा है उनकी सरकार पेपर लीक के दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई (Strict action against paper leak culprits) भी कर रही है।
साथ ही उन्होंने कहा है कि भविष्य में युवाओं के भविष्य के साथ खिलवाड़ न हो वहीं इसके लिए सरकार सख्त नकल विरोधी कानून (Strict anti copying law in Uttarakhand) लाने भी जा रही है।
बता दें मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी (Chief Minister Pushkar Singh Dhami) अपने दो दिवसीय दौरे पर खटीमा पहुंचे और इस दौरान उन्होंने पार्टी कार्यकर्ताओं से मुलाकात भी की। साथ ही सीएम धामी ने पटवारी पेपर लीक मामले पर बयान(CM Dhami on Patwari paper leak case ) भी दिया है। साथ ही सीएम धामी ने कहा पटवारी पेपर लीक मामले में दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जानी चहिए। इसके साथ ही उन्होंने कहा सरकार जल्द ही प्रदेश में सख्त नकल विरोधी कानून लाने की तैयारी भी कर रही है।
इस दौरान सीएम धामी ने यह भी कहा दोबारा परीक्षा आयोजन में पहले परीक्षा में भाग लेने वाले किसी भी छात्र से शुल्क नहीं लिया जाएगा वहीं साथ ही सभी छात्रों की रोडवेज की बस में आने जाने का किराया भी नहीं लिया जाएगा। साथ ही मुख्यमंत्री धामी खटीमा में आयोजित उत्तरायणी कौथिग मेले में प्रतिभाग करने भी पहुंचे थे।
बता दें उत्तराखंड सरकार ने पटवारी भर्ती परीक्षा निरस्त कर फरवरी माह में ही पटवारी भर्ती की परीक्षा द्वारा आयोजित कराने की घोषणा भी की है। साथ ही उन्होंने कहा प्रदेश में सख्त नकल विरोधी कानून लाया भी जाएगा। वहीं जिसमें नकल करने वाले छात्रों को 10 साल तक परीक्षा देने से वंचित भी किया जाएगा और नकल कराने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी वहीं उनकी सारी संपत्ति तत्काल जब्त भी की जाएगी।

और पढ़ें -

राष्ट्रीय

उत्तर प्रदेश