विमान में महिला पर पेशाब करने वाले आरोपी पर लगाया गया चार साल का बैन

जनसंदेश ऑनलाइन ताजा हिंदी ख़बरें सबसे अलग आपके लिए

  1. Home
  2. अन्य राज्य

विमान में महिला पर पेशाब करने वाले आरोपी पर लगाया गया चार साल का बैन

Image


डेस्क। बीते साल 26 नवंबर को न्यूयॉर्क से नई दिल्ली आ रहे एअर इंडिया के विमान में बुजुर्ग महिला पर पेशाब करने के आरोपी में दोषी पाए जाने पर शंकर मिश्रा पर चार महीने का बैन लगा दिया गया है।
साथ ही डीजीसीए का यह कहना है कि एअर इंडिया ने शंकर मिश्रा पर चार महीने का बैन भी लगाया है। साथ ही अन्य एयरलाइंस भी मिश्रा पर इसी तरह का बैन लगा सकते हैं और इससे पहले एअर इंडिया ने मिश्रा पर 30 दिनों का बैन भी लगाया था।
पुलिस ने 7 जनवरी को बेंगलुरु से आरोपी शंकर मिश्रा को गिरफ्तार भी किया था और इस घटना के 42 दिन बाद उसे गिरफ्तार किया जा सका था। साथ ही मुंबई का रहने वाला शंकर लगातार फरार भी चल रहा था, जिसके बाद उसके खिलाफ लुकआउट नोटिस जारी कर दिया गया था और बाद में पुलिस ने आरोपी के मोबाइल लोकेशन के आधार पर उसे अरेस्ट भी किया था।
महिला ने क्रू मेंबर की शिकायत करी 
महिला यात्री ने अपनी शिकायत में लिखा था, "मैं फ्लाइट AI102 पर अपनी बिजनेस क्लास यात्रा के दौरान हुई भयानक घटना के बारे में अपनी गहरी निराशा व्यक्त करने के लिए यह लिख रही हूं। यह मेरी अब तक की सबसे दर्दनाक उड़ान भी रही है। वहीं उड़ान के दौरान, दोपहर के भोजन के तुरंत बाद, लाइट बंद भी कर दी गई थी। साथ ही जब मैं सोने की तैयारी कर रही थी, तभी नशे में धुत्त एक यात्री उनकी सीट पर आया और उसने पेशाब भी कर दी।
साथ ही दूसरे यात्रियों ने उसे हटाने की कोशिश की फिर भी वह नहीं माना और उन्होंने एआई केबिन क्रू को इस घटना के प्रति असंवेदनशील भी बताया।
साथ ही उन्होंने कहा कि क्रू ने उन्हें केवल कपड़े बदलने के लिए बस एक जोड़ी पजामा और चप्पल दी वहीं हरकत करने वाले पुरुष यात्री के खिलाफ कोई कार्रवाई भी नहीं की गई है।"
जानिए क्या था मामला
26 नवंबर को एयर इंडिया की फ्लाइट न्यूयॉर्क से दिल्ली आ रही थी और तभी विमान के बिजनेस क्लास में सफर कर रहे नशे में धुत शंकर मिश्रा ने 70 वर्षीय बुजुर्ग महिला पर पेशाब भी कर दिया था । और पुलिस ने आरोपी के खिलाफ आईपीसी की धारा 354,294,509,510 के तहत केस भी दर्ज किया है। और इस मामले में बुधवार को दिल्ली पुलिस ने पीड़ित महिला का 164 का बयान मजिस्ट्रेट के सामने रिकॉर्ड भी करवा दिया गया है। साथ ही पिछले दिनों पुलिस ने कहा था कि महिला जांच में सहयोग नहीं कर रही हैं।

और पढ़ें -

राष्ट्रीय

उत्तर प्रदेश