अब ऐप की मदद से करवाएं इलाके के आवारा कुत्तों की नसबंदी

जनसंदेश ऑनलाइन ताजा हिंदी ख़बरें सबसे अलग आपके लिए

  1. Home
  2. अन्य राज्य

अब ऐप की मदद से करवाएं इलाके के आवारा कुत्तों की नसबंदी

Image


Now get sterilization of stray dogs of the area with the help of app

Stray Dog Sterilization: भारत के कई इलाकों में आवारा कुत्तों की बढ़ती संख्या ने समस्याओं को जन्म दे दिया है। इन कुत्तों द्वारा लोगों को अपना शिकार बनाए जाने की कई खबरे मिल रहीं हैं और इनके सबसे ज्यादा शिकार छोटे बच्चे होते हैं।

वहीं ऐसे में दिल्ली में आवारा कुत्तों का आतंक झेल रहे लोगों के लिए एक अच्छी खबर भी सामने आई है। दिल्ली में रहने वाले लोग अब अवारा कुत्तों की नसबंदी के लिए रिक्वेस्ट नगर निकाय के ऐप पर भी कर सकते हैं, जिसपर निकाय जल्द से जल्द कार्रवाई भी करेगा।  वहीं MCD के इस कदम से आवारा कुत्तों की संख्या में अच्छी-खासी कमी भी आएगी। 

अधिकारियों ने शनिवार को यह भी जानकारी दी है कि 'कुत्ते की नसबंदी मॉड्यूल' मौजूदा 'एमसीडी ऐप 311' पर शुरू किया गया है। साथ ही एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया, 'MCD क्षेत्र में रहने वाला कोई भी व्यक्ति पड़ोस में रहने वाले आवारा कुत्तों की तस्वीर खींच कर ऐप पर अपलोड भी कर सकता है। इसके बाद पशु चिकित्सा विभाग के अधिकारी कार्रवाई करेंगे और जरूरत पड़ने पर कुत्तों की नसबंदी करने के बाद वापस उसको इलाके में छोड़ देंगे।'

 उन्होंने यह भी बताया कि कुत्तों को पकड़ने से लेकर उनकी नसंबदी तारीख सहित और वापस इलाके में छोड़ने की जानकारी आदि तस्वीर के साथ ऑनलाइन अपडेट करी जानी है। 

जानकारी के लिए आपको बता दें कि आवारा कुत्तों से देश के कई शहरों में लोगों को काफी दिक्कतों का सामना भी करना पड़ता है, और दिल्ली भी उन्हीं में से एक ही है। दिल्ली में आवारा कुत्तों की तादाद तेजी से बढ़ रही है और पिछले कुछ महीनों में उनके आक्रामक व्यवहर से जुड़ी कई खबरें सामने भी आईं हैं। 

यह भी बता दें कि कुत्ता आमतौर पर इंसान की संगत पसंद करने वाला जानवर बताए जाते है और इसे इंसानों का अच्छा दोस्त भी माना जाता है वहीं इसका आक्रामक व्यवहार कई बार लोगों के लिए जानलेवा भी हो जाता है इन समस्याओं के मद्देनजर MCD का यह ऐप दिल्ली वालों के लिए काफी काम का साबित होगा।

Text Example

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।

और पढ़ें -

राष्ट्रीय

उत्तर प्रदेश