Jansandesh online hindi news

बिहार में अब तक रद्द हुए इतने राशनकार्ड, अब इनकी है बारी

 | 
Image

डेस्क। अपात्र होने के बाद भी राशन कार्ड का लाभ ले रहे लोगों के खिलाफ प्रदेश विभाग सख्त हो गया है। अभियान चलाकर अब तक 1824 अपात्र राशन कार्ड धारकों के कार्ड्स को रद्द कर दिया गया है। इसमें 1083 ऐसे परिवार भी शामिल हैं जिन्होंने विभागीय चेतावनी के बाद अपना राशन कार्ड खुद ही सरेंडर किया है।

विभागीय आंकड़ों पर गौर करें तो पिछले कई सालों से जिलेभर में हर महीने 1824 परिवार के 6640 ऐसे लोगों को राशन दिया जा रहा था जो कहीं से भी इसको पाने के पात्र नहीं है। इसमें कई ऐसे परिवार भी शामिल थे जिसके घर में एक या इससे अधिक लोगों के पास सरकारी नौकरी है। 

ऐसे मामलों में समय रहते कार्ड सरेंडर कर देने की वजह से वह अब कार्रवाई के घेरे से बाहर हो गए है। इस अभियान के अंतर्गत सभी अपात्र लाभुकों को योजना से बाहर कर दिया जाएगा। इसके साथ ही ऐसे लोगों को भी योजना का लाभ नहीं मिलेगा जो योजना के शर्तों पर पालन नहीं करेंगे।

रद्द हुए राशन कार्ड की सूची में सबसे अधिक त्रिवेणीगंज अनुमंडल के अपात्र लाभुक शामिल हैं। विभागीय आंकड़ों की माने तो त्रिवेणीगंज में सबसे अधिक 1036 राशन कार्ड रद्द हुए। 

इसके साथ ही जिला आपूर्ति पदाधिकारी वसीम रजा ने बताया कि करदाता और सरकारी नौकरी वाले लोग राशन कार्ड का लाभ नहीं ले सकते। इसके साथ ही योजना में कई अन्य शर्तें भी अब सख्ती से लागूं होंगी। ऐसे लाभुक जो योजना के योग्य नहीं है, उनका राशन कार्ड रद्द किया जाएगा।

Text Example

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।