Jansandesh online hindi news

मुख्यमंत्री के सचिव वी के पांडियन ने पुरी स्टेडियम परियोजना स्थल का दौरा किया
 

 | 
मुख्यमंत्री के सचिव वी के पांडियन ने पुरी स्टेडियम परियोजना स्थल का दौरा किया

पुरी

बिस्वरंजन मिश्रा

मुख्यमंत्री श्री नवीन पटनायक के निर्देशानुसार मुख्यमंत्री के सचिव श्री वीके पांडियन ने आज पुरी स्टेडियम परियोजना स्थल का दौरा किया और चल रहे कार्यों का निरीक्षण किया। उन्होंने परियोजना की प्रगति की विस्तार से समीक्षा की और कार्य में तेजी लाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री का सपना है कि पुरी को सभी उपयुक्त सुविधाओं से युक्त विश्वस्तरीय विरासत शहर बनाया जाए। उन्होंने पुरी जिले में खेलों के विकास पर चर्चा की। पुरी शहर में अखाड़ों की एक मजबूत संस्कृति है और कुश्ती, भारोत्तोलन, शरीर सौष्ठव, योग, जिमनास्टिक, मुक्केबाजी इत्यादि जैसे खेलों के विकास के लिए बहुत संभावनाएं हैं। उन्होंने उपस्थित अधिकारियों से खेल विकास के लिए अखाड़ों का समर्थन करने का पता लगाने के लिए कहा। उन्होंने आगे निर्देश दिया कि नए खेल परिसर में एक आवासीय क्रिकेट अकादमी और कुश्ती अकादमी की स्थापना की जाए। यह परियोजना "आबाधा" (बुनियादी सुविधाओं का विस्तार और विरासत और वास्तुकला का विकास) योजना का एक हिस्सा है, जो पुरी को एक विश्व स्तरीय विरासत शहर में बदलने का इरादा रखता है। नए खेल परिसर का निर्माण कुल के बजट से किया जा रहा है। रु. 40.00 करोड़। परिसर में मुख्य रूप से अभ्यास जाल और अन्य सुविधाओं के साथ क्रिकेट स्टेडियम होगा जो रणजी ट्रॉफी सहित प्रथम श्रेणी क्रिकेट मैचों का आयोजन करने में सक्षम होगा। परिसर में एक ५०-एमएस स्विमिंग पूल, बहुउद्देश्यीय इंडोर हॉल (मुक्केबाजी, कुश्ती, टेबल टेनिस और व्यायामशाला के लिए सुविधाओं के साथ) और एक १००-बैठने वाला खेल छात्रावास भी होगा। समीक्षा के दौरान आर.विनील कृष्ण, आयुक्त-सह-सचिव, खेल और वाईएस विभाग, समर्थ वर्मा, कलेक्टर, पुरी, खेल और वाईएस विभाग के अधिकारी और कार्यकारी एजेंसी के इंजीनियर उपस्थित थे।

Text Example

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।