Jansandesh online hindi news

कहीं भी ना फेंकने के लिए आम लोगों को जागरूक किया जाए - कलेक्टर

 | 
कहीं भी ना फेंकने के लिए आम लोगों को जागरूक किया जाए - कलेक्टर*

मोहन प्रसाद यादव 

अनूपपुर 10 जून 2021/

कलेक्टर सुश्री सोनिया मीना ने नगरीय क्षेत्र में कचरा निपटान प्रबंधन की सुदृढ़ व्यवस्था सुनिष्चित किए जाने पर बल देते हुए जिले के मुख्य नगरपालिका अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि वे हर कहीं कचरा फेंकने की प्रवृत्ति त्यागने के लिए नागरिकों को जागरूक करें। उन्हें समझाएं कि हर कहीं गंदगी फैलाने से बीमारियां पनपती हैं। इसलिए वे घर के कचरे को डस्टबिन में इकट्ठा करें। कलेक्टर ने इस आषय के निर्देष यहां नगर सेवा अभियान की समीक्षा बैठक में मुख्य नगरपालिका अधिकारियों को दिए। बैठक में परियोजना अधिकारी जिला शहरी विकास अभिकरण श्री विजय डेहरिया समेत जिले के अनुविभागीय अधिकारी राजस्व एवं मुख्य नगरपालिका अधिकारी उपस्थित थे।

    कलेक्टर ने मुख्य नगरपालिका अधिकारियों को हिदायत दी कि वे नगर की साफ-सफाई व्यवस्था को स्वयं भ्रमण कर देखें और साफ-सफाई व्यवस्था से जुड़े कर्मचारियों से काम लें। कचरा इकट्ठा करने के लिए जहां आवष्यकता हो, वहा डस्टबिन रखवाएं। घर के कचरे को डस्टबिन में रखने के लिए नागरिकों को प्रेरित एवं जागरूक करें। आपने नगरीय क्षेत्रों की साफ-सफाई व्यवस्था की पड़ताल के लिए क्षेत्र का अकस्मात निरीक्षण करने के अनुविभागीय अधिकारियों राजस्व को निर्देश दिए। 

    कलेक्टर ने कहा कि जिन क्षेत्रों में कचरा निपटान प्रबंधन की व्यवस्था सुदृढ़ ना हो, वहां व्यवस्था को ठीक किया जाए। आपने डोर-टू-डूर कचरा इकट्ठा करने की व्यवस्था को चुस्त-दुरूस्त रखने के निर्देश दिए। आपने कचरा गाड़ियों का नियमित रूप से संचालन बनाए रखने की हिदायत भी दी। कलेक्टर ने बरसात के पूर्व अभियान चलाकर नाले-नालियों की सफाई कराने के निर्देश दिए। आपने नालियों में कीटनाषक दवा डलवाने की हिदायत दी। आपने कर्मचारियों की टीम से लाइट पोल की जांच करवाने और खराब लाइट पोल तत्परता से ठीक करवाने के मुख्य नगरपालिका अधिकारियों को निर्देश दिए। 

    कलेक्टर ने मंडियों में भी साफ-सफाई की उचित व्यवस्था करने के मुख्य नगरपालिका अधिकारियों को निर्देश दिए। कलेक्टर ने कहा कि मिलजुल कर काम करने से अच्छे परिणाम सामने आते हैं। इसलिए किसी काम को करने के लिए मन में यह भाव नहीं आना चाहिए कि इस काम को करना मेरी जिम्मेदारी नहीं है। आपने आपसी समन्वय रखते हुए बेहतर ढंग से काम करने की जरूरत जताई। आपने मुख्य नगरपालिका अधिकारियों से कहा कि मैं स्वयं भी आपके कार्यों को देखने आऊंगी।