Jansandesh online hindi news

अंतर्राष्ट्रीय वृद्ध दिवस पर वृद्धाश्रम, आनंद भवन में मौजूद वृद्ध महिलाओं व पुरुषों को अंग वस्त्र व फल किया गया वितरित

रिपोर्ट:सैय्यद मकसूदुल हसन
 | 
फोटो
वृद्धजनों का देवता के रूप में हम सभी को सम्मान देना चाहिए- शशि कुमार

               सुलतानपुर 01 अक्टूबर/अंतर्राष्ट्रीय वृद्ध दिवस पर अमहट गोराबारिक में वृद्धाश्रम आनंद भवन में आयोजित कार्यक्रम को संबोधित करते हुए सचिव, जिला विधिक सेवा प्राधिकरण शशि कुमार ने कहा कि वृद्ध हमारे देवता है , देवता की तरह ही अपने घर के वृद्धों का हम सभी को सम्मान करना चाहिए, ताकि आने वाली पीढ़ी इससे सबक ले। इस दौरान वृद्धों के लिए सरकार द्वारा चलाई गई योजनाओं के बारे में जानकारी दी गई। 
              सचिव, जिला विधिक सेवा प्राधिकरण शशि कुमार ने अपने सम्बेाधन में कहा कि वृद्धाश्रम में मौजूद किसी भी वृद्धजन को कानूनी सहायता लेनी हो, तो उनके लिए प्राधिकरण की ओर से अधिवक्ता निःशुल्क उपलब्ध कराये जायेंगे। अन्य किसी असुविधा के लिए पैरा लीगल वालंटियर उनकी समस्याओं का निराकरण कराने के लिए सदैव तत्पर रहेंगे। 
            कार्यक्रम में अतिथि जिला समाज कल्याण अधिकारी आर0बी0 सिंह ने वृद्धों के लिए संचालित योजनाओं के बारे में जानकारी दी। उन्होंने कहा कि वृद्धजनों को सरकार द्वारा पेंशन इत्यादि जो भी योजनाएं मुहैया कराने के लिए कहा गया है। उसे पूरा किया जा रहा है अन्य जो समस्याएं हैं, उनको भी जल्द ही पूरा कर दिया जाएगा। सुलतानपुर विधायक सूर्यभान सिंह के प्रतिनिधि रूपेश सिंह ने कहा कि वृद्धों की सेवा करना बच्चों का परम कर्तव्य है। हम सभी एक समय में वृद्ध होंगे और यह दिन हम सबको देखना पड़ सकता है, ऐसे में सभी बच्चों को चाहिए कि वह अपने माता पिता को वृद्धाश्रम के बजाय अपने पास रखने में अपनी इज्जत समझें। वृद्ध भगवान का स्वरूप हैं।
              इस अवसर पर मौजूद वृद्ध महिलाओं व पुरुषों को फल, अंगवस्त्र वितरित किया गया। जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के नामित अधिवक्ता अमित कुमार पांडे, पैरा लीगल वालंटियर सतीश कुमार पांडे व वृद्धाश्रम संचालक मौजूद रहे।

Text Example

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।