Jansandesh online hindi news

10 जून को रखा जाएगा वट सावित्री 

 | 
10 जून को रखा जाएगा वट सावित्री 

कोहिनूर तिवारी के साथ लव कौशिक की रिर्पोट 

बलौदा ,जिला जांजगीर चांपा
कल १० जून को रखा जायेगा  वट सावित्री का व्रत पति की लंबी उम्र की कामना के लिए रखा जाने वाला वट सावित्री व्रत 10 जून को है। हर साल ये व्रत ज्येष्ठ मास की अमावस्या के दिन आता है। कहा जाता है कि इस दिन सावित्री ने अपने पति के प्राण वापस लौटाने के लिए यमराज को विवश कर दिया था। इस व्रत वाले दिन वट वृक्ष का पूजन कर सावित्री-सत्यवान की कथा को याद किया जाता है। जानिए व्ट सावित्री व्रत का मुहुर्त वट सावित्री व्रत का मुहूर्त और महत्व: अमावस्या तिथि का प्रारम्भ 9 जून को दोपहर 01:57 बजे से हो जाएगा और इसकी समाप्ति 10 जून 2021 को शाम 04:22 बजे पर होगी। इस व्रत में बरगद के पेड़ की पूजा होती है। हिन्दू धर्म में बरगद के पेड़ को पूजनीय माना जाता है। 

शास्त्रों के अनुसार इस पेड़ में सभी देवी-देवताओं का वास होता है। इसलिए बरगद के पेड़ की आराधना करने से सौभाग्य की प्राप्ति होती है। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार माता सावित्री अपने पति के प्राणों को यमराज से छुड़ाकर वापस ले आई थीं। इसलिए इस व्रत का विशेष महत्व माना जाता है। कहते हैं कि इस व्रत को रखने से महिलाओं को अखंड सौभाग्य की प्राप्ति होती है। व्रत का पारण 11 जून 2021 को किया जाएगा।