बंद सिम से हुई लाखों की ठगी, हैरान करने वाला मामला आया सामने

जनसंदेश ऑनलाइन ताजा हिंदी ख़बरें सबसे अलग आपके लिए

  1. Home
  2. Tech खबरें

बंद सिम से हुई लाखों की ठगी, हैरान करने वाला मामला आया सामने

Image


डेस्क - क्या आप भी दो सिम यूज करते हैं तो ऐसा नहीं है कि आपकी पुरानी सिम बंद हो गई हो और आपको इसकी जानकारी भी नहीं है। यह बहुत खतरनाक साबित हो सकता है। वहीं क्योंकि, कई बैंक खाते भी नंबर से जुड़े हुए होते हैं।
यहां एक छोटी सी गलती हो रही है, जिससे दिल्ली के एक कारोबारी को लाखों का नुकसान भी हो गया है। साथ ही होता कुछ ऐसा है कि आजकल किसी भी सिम कार्ड में लाइफ टाइम इनकमिंग भी नहीं मिलती है। 
वहीं अगर आप किसी एक सिम का इस्तेमाल करते हुए दूसरे सिम को एक्टिव रखना चाहते हैं तो इसके लिए आपको सिम को एक्टिव रखने के लिए मिनिमम रिचार्ज प्लान भीं खरीदना होगा। साथ ही करीब 90 दिन तक रीचार्ज नहीं होने पर कंपनियां सिम को लॉक भी कर देती हैं।
साथ ही अब तक की एक रिपोर्ट के मुताबिक दिल्ली में एक कारोबारी से लाखों रुपये की ठगी हुई है और ये दूसरे सिम की कहानी है। दरअसल जिस बैंक खाते से लाखों रुपये की ठगी की गई थी उसके एक सिम कार्ड से जुड़ा हुआ था और कारोबारी लंबे समय से इस सिम कार्ड का इस्तेमाल नहीं कर रहा था वहीं कारोबारी का बैंक खाता इसी सिम से रजिस्टर्ड था।
बता दें इस सिम के लंबे समय तक निष्क्रिय रहने के कारण कंपनी ने व्यवसायी के इस सिम को बंद कर दिया और इसे दूसरे उपयोगकर्ता को आवंटित कर दिया। अब पुलिस केवल मामले की जांच कर रही है। लेकिन, आशंका जताई जा रही है कि जिस शख्स को यह नंबर अलॉट किया गया है, उसी ने इसकी ठगी की होगी।
बता दें कोई सिम बंद होने पर भी वह किसी और के नाम से आवंटित हो सकता है। लेकिन, चूंकि नंबर बैंक से जुड़ा हुआ है, इसलिए एसएमएस और ओटीपी एक ही नंबर पर ही जाते हैं। इनके जरिए PhonePe और Paytm जैसी चीजें भी काम करती हैं। क्‍योंकि, ये ऐप्‍प में रजिस्‍टर्ड मोबाइल नंबर की बैंक डीटेल्स दिखाता हैं और ओटीपी या एसएमएस की मदद से अकाउंट को ऐड भी कर देते हैं।

और पढ़ें -

राष्ट्रीय

उत्तर प्रदेश