Jansandesh online hindi news

Youtube पर आ रहा शार्ट वीडियो का धमाकेदार फीचर, क्रिएटर्स का कम होगा वर्कलोड

 | 
Image

 

डेस्क। यूजर के एक्सपीरियंस को और भी बेहतर बनाने के उद्देश्य से, गूगल के स्वामित्व वाले स्ट्रीमिंग प्लेटफॉर्म यूट्यूब ने घोषणा की है कि यूजर्स अब अपने आईओएस और एंड्रॉइड ऐप में एक नया 'एडिट इन ए शॉर्ट' टूल का जल्द ही इस्तेमाल कर पाएंगे। इसके जरिए लंबे वीडियो को शॉर्ट्स में बदला जा सकेगा।

इस नए अपडेट के साथ ही आईओएस और एंड्रॉइड डिवाइस पर क्रिएटर्स अब अपने मौजूदा लंबे-फॉर्म यूट्यूब वीडियो से 60 सेकंड तक में कनवर्ट कर पाएंगे। साथ ही उन्हें शॉर्ट्स में भी बदला जा सकता हैं। बता दें कि यूट्यूब शॉर्ट्स को अब हर महीने 1.5 बिलियन से अधिक साइन-इन यूजर्स द्वारा देखा जा सकेगा जिन्हें प्रतिदिन 30 बिलियन से अधिक बार देखा गया हो।

कंपनी ने बताया है कि यह अपडेट यूजर्स को उनके क्लासिक कंटेंट में नई जान डालने और अपने दर्शकों को जोड़ने का एक नया तरीका होने वाला है। जानकारी दी गई है कि अगर उपयोगकर्ता अपने वीडियो का एक हिस्सा चुनते हैं जो 60 सेकंड से कम है, तो वे शॉर्ट्स कैमरे के साथ अतिरिक्त वीडियो शूट भी कर सकते हैं और साथ ही जरूरत पड़ने पर 60 सेकंड के शॉर्ट्स बनाने के लिए अपनी गैलरी से अधिक वीडियो को इसमें आसानी से अपलोड भी कर सकते हैं।

कंपनी ने यह भी उल्लेख किया कि केवल मूल निर्माता ही अपने लंबे प्रारूप वाले वीडियो को शॉर्ट्स में आयात कर सकेंगे क्योंकि यह उपकरण अन्य क्रिएटर्स के लिए उनके कंटेंट में उपयोग करने के लिए उपलब्ध नहीं होगा गूगल ने शॉर्ट-वीडियो बनाने वाले प्लेटफॉर्म यूट्यूब शॉर्ट्स पर अपने शुरुआती मुद्रीकरण प्रयासों में उत्साहजनक परिणाम भी देखे हैं जिस कारण यह नया बदलाव आ रहा है।

जानकारी के लिए बता दें कि अल्फाबेट (गूगल की मूल कंपनी) के वरिष्ठ उपाध्यक्ष और मुख्य व्यवसाय अधिकारी फिलिप शिंडलर ने इस सप्ताह कहा था कि उपभोक्ता स्पष्ट रूप से शॉर्ट-फॉर्म वीडियो को बढ़ा रहे हैं और इसका उपभोग भी कर रहे हैं। आगे उन्होंने कहा कि वे इसे यूट्यूब सहित कई प्लेटफार्मो पर देख रहे हैं। 

शिंडलर ने विश्लेषकों के साथ ही एक अर्निग कॉल के दौरान यह भी कहा कि, "हम यूट्यूब पर अच्छा उपयोगकर्ता जुड़ाव देख पा रहे है साथ ही शॉर्ट्स के मुद्रीकरण के शुरुआती परिणाम भी उत्साहजनक हैं।

Text Example

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।