Jansandesh online hindi news

40 प्रतिशत या उससे अधिक दिव्यांग छात्र/छात्राएं छात्रवृत्ति हेतु करे आनलाइन आवेदन

 | 
फोटो
रिपोर्ट:सैय्यद मकसूदुल हसन

                 सुलतानपुर 01 अक्टूबर/जिला दिव्यांगजन सशक्तीकरण अधिकारी मुदित श्रीवास्तव ने जनपद में अध्ययनरत ऐसे दिव्यांग छात्र-छात्राएं जिनकी दिव्यांगता का प्रतिशत 40ः या उससे अधिक हो तथा प्री मैट्रिक, पोस्ट मैट्रिक एंव टाप क्लास में अध्ययनरत हो को सूचित किया जाता है कि दिव्यांगजन सशक्तीकरण विभाग,सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्रालय भारत सरकार, नई दिल्ली द्वारा संचालित राष्ट्रीय छात्रवृत्ति योजना, शैक्षिक  सत्र  वर्ष 2021-22 हेतु समय-सारणी निर्गत की गई है। में प्री मैट्रिक, पोस्ट मैट्रिक एवं टाॅप क्लास छात्रवृत्ति हेतु आनलाइन आवेदन www.scholarships.gov.in पर आमंत्रित किये जाते है, प्री मैट्रिक आवेदन की अन्तिम तिथि 15.11.2021 एवं पोस्ट मैट्रिक एंव टाप क्लास  आवेदन की अन्तिम तिथि 30.11.2021 निर्धारित की गई है।

                   उन्होंने  बताया कि पात्रता यह छात्रवृत्ति प्री-मैट्रिक, पोस्ट-मैट्रिक एवं टाॅप क्लास में अध्ययनरत भारतीय छात्र/छात्राओं के लिए ही अनुमन्य है। 40 प्रतिशत से कम दिव्यांगता वाले छात्र/छात्रा पात्र नही होगें। एक अभिभावक के 02 से अधिक दिव्यांग अभ्यर्थी इस योजना से आच्छादित नही होगें। छात्रवृत्ति केवल एक शैक्षिणक वर्ष के लिए देय होगी। यदि विद्यार्थी कक्षा में अनुत्तीर्ण होता है तो उसे पुनः उसी कक्षा के लिए छात्रवृत्ति नही दी जायेगी। जो विद्यार्थी किसी अन्य स्त्रोत से छात्रवृत्ति अथवा स्टाइपेन्ड प्राप्त कर रहे है, उन्हे यह सुविधा अनुमन्य नही होगी। जो विद्यार्थी किसी ऐसे पूर्व परीक्षा, प्रशिक्षण केन्द्र से जो केन्द्र सरकार अथवा राज्य सरकार द्वारा वित्त पोषित है, में प्रशिक्षण/कोचिंग प्राप्त कर रहे है, प्रशिक्षण में वह इस योजनान्तर्गत आच्छादित नही होगें।  उन्होंने प्री-मैट्रिक  दिव्यांग विद्यार्थियों को किसी शासकीय अथवा केन्द्र/राज्य सरकार से मान्यता प्राप्त विद्यालयों में पूर्ण कालिक रूप से अध्ययनरत होना चाहिए। 

                 जिला दिव्यांगजन सशक्तीकरण अधिकारी  ने बताया कि पोस्ट-मैट्रिक/टाॅप क्लास प्रशिक्षण से सम्बन्धित पाठ्यक्रमों के लिए यह छात्रवृत्ति देय नही होगी। किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड/विद्यालय से हाईस्कूल परीक्षा उत्तीर्ण अभ्यर्थी ही इसके आवेदन हेतु पात्र होगें। परास्नातक डिग्री/डिप्लोमा/सर्टीफिकेट के छात्र इस योजना से आच्छादित होगें। स्नातक पूर्ण कर विद्यार्थी यदि स्नातक स्तर का द्वितीय पाठ्यक्रम कर रहे हो, तो वह इस योजना से आच्छादित नही होगे। जो विद्यार्थी एक से अधिक पाठ्यक्रम कर रहे है, उन्हे किसी एक पाठयक्रम में योजना का लाभ देय होगा। पत्राचार के माध्यम से अथवा दूरस्थ शिक्षा के माध्यम से अध्ययनरत विद्यार्थी भी इस योजना के पात्र होगें। 

      उन्होंने प्री-मैट्रिक एवं पोस्ट-मैट्रिक छात्रवृत्ति के लिए दिव्यांग विद्यार्थियों के अभिभावकों की सभी स्त्रोतो से अधिकतम वार्षिक आय रू0 2.50 लाख एवं टाॅप क्लास छात्रवृत्ति के लिए दिव्यांग विद्यार्थियों के अभिभावकों की सभी स्त्रोतो से अधिकतम वार्षिक आय रू0 6.00 लाख निर्धारित है। विस्तृत दिशा-निर्देश दिव्यांगजन सशक्तीकरण विभाग,सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्रालय भारत सरकार, नई दिल्ली की बेवसाइट www.scholarships.gov.in पर उपलब्ध है।

Text Example

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।