Ganga Vilas Cruise: बनारस से चली क्रूज बिहार में कैसी जा फसी

जनसंदेश ऑनलाइन ताजा हिंदी ख़बरें सबसे अलग आपके लिए

  1. Home
  2. उत्तर प्रदेश

Ganga Vilas Cruise: बनारस से चली क्रूज बिहार में कैसी जा फसी

Image


Ganga Vilas Cruise: बनारस से चलकर बीच रास्ते बिहार में फंस गया 'गंगा विलास क्रूज'? जानें सरकार ने इसपर क्या बोला है।
Ganga Vilas Cruise Bihar: दुनिया के सबसे बड़े रिवर क्रूज गंगा विलास को 51 दिवसीय यात्रा के तीसरे दिन ही बड़ी समस्या देखने का सामना करना पड़ा है। तो आइये आपको बताते हैं क्रूज की यात्रा में क्या दिक्कत आई है।
Ganga Vilas Cruise Stuck in Bihar: दुनिया के सबसे बड़े रिवर क्रूज गंगा विलास को तीन दिन पहले ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हरी झंडी दिखाई है और यहा आलीशान क्रूज वाराणसी से 51 दिवसीय यात्रा पर निकला है। वहीं वाराणसी से निकलने के बाद तीसरे दिन क्रूज को बिहार पहुंचने पर दिक्कतों का सामना करना भी पड़ रहा है। साथ ही नदीं में पानी कम होने के कारण क्रूज उथले क्षेत्र में फंस भी गया। 
गंगा विलास क्रूज के साथ यह समस्या बिहार के छपरा में सामने भी आई है और गंगा विलास क्रूज छपरा में डोरीगंज बाजार के पास फंसा हैं। वहीं आपको बता दें कि यह जगह छपरा से 11 किमी दक्षिण-पूर्व में स्थित भी है। डोरीगंज में चिरांद सारण सबसे महत्वपूर्ण पुरातात्विक स्थल भी है वहीं घाघरा नदी के तट पर बने स्तूपनुमा भरावों को हिंदू, बौद्ध और मुस्लिम प्रभावों से जोड़कर इसे देखा भी जाता है। अधिकारियों ने यह भी बताया है कि यहां तट पर उथले पानी के कारण क्रूज को तट पर लाना मुश्किल था । साथ ही सरकार ने क्रूज के फंसने की खबर को बेबुनियाद भी बताया है। 
साथ ही मीडिया रिपोर्ट्स में दावा किया गया था कि मौके पर पहुंची एसडीआरएफ की टीम ने छोटी नाव के जरिए पर्यटकों की मदद की, ताकि उन्हें चिरांद सारण पहुंचने में दिक्कत भी न हो। साथ ही व्यवस्था बनाने वाली टीम में शामिल छपरा के सीओ सतेंद्र सिंह ने कहा कि चिरांद में पर्यटकों के लिए पर्याप्त व्यवस्था भी की गई है। साथ ही गंगा में कम पानी की समस्या सामने आने के बाद घाट पर एसडीआरएफ की टीम को तैनात किया गया है, ताकि किसी भी अप्रिय स्थिति पर तत्काल कार्रवाई भी की जा सके। साथ ही पानी कम होने के कारण क्रूज को किनारे तक लाने में दिक्कत भी हो रही है। वहीं इसलिए छोटी नावों के जरिए पर्यटकों को लाने का प्रयास भी किया जा रहा है।
आपको बता दें कि गंगा विलास क्रूज में बेहद खास फीचर दिया गए हैं। साथ ही इसकी गति धारा के प्रतिकूल 12 किलोमीटर प्रति घंटा और धारा के अनुकूल 20 किलोमीटर तक भी है।
सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट के साथ क्रूज में पीने के पानी के लिए आरओ सिस्टम भी मौजूद है। इस क्रूज में लोगों की सुविधा और उनकी जरूरतों के लिए सभी जरूरी सुविधाएं मौजूद हैं और भारत में इसका किराया ₹25,000 प्रतिदिन का है, जबकि बांग्लादेश में किराया ₹50,000 प्रतिदिन है।
बता दें लग्जरी ट्रिपल-डेक क्रूज वाराणसी से असम के डिब्रूगढ़ तक दुनिया के सबसे लंबे जलमार्ग पर यात्रा करने जा रही है। क्रूज में 18 सूट के साथ 80 यात्रियों की क्षमता है। बता दें यह क्रूज 51 दिनों की यात्रा पर है और 15 दिनों तक बांग्लादेश से होकर गुजरेगा वहीं इसके बाद यह असम में ब्रह्मपुत्र नदी के रास्ते डिब्रूगढ़ जाएगा। साथ ही लग्जरी क्रूज 3,200 किलोमीटर से अधिक की दूरी तय करेगा और भारत और बांग्लादेश में 5 राज्यों से होकर भी गुजरेगा।

और पढ़ें -

राष्ट्रीय

उत्तर प्रदेश