श्रीरामचरितमानस पर विवादित बयान देने पर घिरे सपा नेता स्वामी प्रसाद मौर्य, जेल भेजने की मांग

जनसंदेश ऑनलाइन ताजा हिंदी ख़बरें सबसे अलग आपके लिए

  1. Home
  2. उत्तर प्रदेश

श्रीरामचरितमानस पर विवादित बयान देने पर घिरे सपा नेता स्वामी प्रसाद मौर्य, जेल भेजने की मांग

Image


डेस्क। श्रीरामचरितमानस पर विवादित बयान देने वाले बिहार के शिक्षा मंत्री चंद्रशेखर प्रसाद के साथ अब उत्तर प्रदेश के पूर्व मंत्री व सपा नेता स्वामी प्रसाद मौर्य भी साधु-संतों के निशाने पर आ गए हैं।
वहीं अयोध्या कोतवाली में तहरीर देकर दोनों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की गई है।
श्रीरामचरितमानस पर दिया विवादित बयान
बता दें कि बिहार के शिक्षा मंत्री डा. चंद्रशेखर प्रसाद ने पिछले दिनों तुलसीदास रचित श्रीरामचरितमानस के कुछ अंशों का संदर्भ रखते हुए विवादित बयान दिया था। इस पर पूरे देश में हंगामा मचा हुआ है। इसी बीच स्वामी प्रसाद मौर्य ने भी एक टेलीविजन चैनल पर मानस को प्रतिबंधित करने की मांग कर दी। यहां तक कह दिया कि इसकी प्रतियां जब्त कर ली जानी चाहिए। 
इसके बाद में एएनआइ न्यूज एजेंसी के साथ बातचीत में उन्होंने स्पष्ट किया कि प्रतिबंध की मांग नहीं रखी वहीं श्रीरामचरितमानस में कुछ जातियों, वर्गों और वर्णों को लेकर जो आहत करने वाले अंश हैं, उन्हें हटा दिया जाना चाहिए।
साधु-संतों ने दी ऐसी प्रतिक्रिया
साधु-संतों ने इस पर तीखी प्रतिक्रिया दी है। प्रयागराज में अखिल भारतीय संत समिति के राष्ट्रीय महासचिव स्वामी जीतेंद्रानंद सरस्वती ने सपा नेता स्वामी प्रसाद मौर्य व बिहार के शिक्षा मंत्री सहित अन्य लोगों द्वारा मानस पर दिए गए विवादित बयान की कड़ी निंदा भी की है। और यह कहा कि गोस्वामी तुलसी दास द्वारा रचित श्रीरामचरितमानस व प्रभु श्रीराम पर विवादित टिप्पणी चर्च प्रायोजित वामपंथ के टूलकिट का हिस्सा ही है। 
स्वामी प्रसाद को जेल भेजने की मांग की
लोगों ने केंद्र व राज्य सरकार से मानस पर अवांछित टिप्पणी करने पर स्वामी प्रसाद पर एफआइआर दर्ज करके प्रदेश में अशांति व दंगा भड़काने के आरोप में जेल भेजने की मांग भी की।  

और पढ़ें -

राष्ट्रीय

उत्तर प्रदेश