Jansandesh online hindi news

महंत का पट्टाभिषेक होने के बाद पहली बार ने उतारी लेटे हनुमान मंदिर की आरती

 | 
महंत का पट्टाभिषेक होने के बाद पहली बार ने उतारी लेटे हनुमान मंदिर की आरती

प्रयागराज

श्री मठ बाघम्बरी गद्दी के महंत व अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद अध्यक्ष नरेंद्र गिरि ने 20 सितंबर को संदिग्ध अवस्था में फांसी लगा लिया था. नरेंद्र गिरि की शोडषी पर पांच अक्टूबर को बलवीर गिरि का मठ के महंत के रूप में पट्टाभिषेक हुआ. महंत का पट्टाभिषेक होने के बाद बलवीर पहली बार मंगलवार की शाम बांध स्थित लेटे हनुमान मंदिर आए. हनुमान जी की आरती करके नरेंद्र गिरि की गद्दी पर आसीन हुए. नरेंद्र गिरि के गुरु हरगोङ्क्षवद पुरी व केशव पुरी ने बलवीर को आशीर्वाद दिया. मंदिर के व्यवस्थापक अमर गिरि व पुजारियों ने उनका स्वागत किया. बलवीर ने मंदिर की व्यवस्था पर चर्चा किया. बलवीर के रुख व उनके करीबी महात्माओं की सक्रियता से लग रहा है कि आने वाले दिनों में व्यवस्था में व्यापक बदलाव होगा.

Text Example

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।