Jansandesh online hindi news

बासी मेले में आए श्रद्धालुओं के लिए नि:शुल्क भंडारे के और ठहरने की हुई थी व्यवस्था 

कार्तिक पूर्णिमा के अवसर पर पडरौना शहर से 8 किलोमीटर दूर सिंगापट्टी गांव स्थित बांसी मेला में आए श्रद्धालुओं के लिए निशुल्क भंडारे और ठहरने की व्यवस्था किया गया था। इसमें कांग्रेसी नेता मनीष जायसवाल मंटू के तरफ से किए गए नि:शुल्क भंडारे और खाने की व्यवस्था में आए लाखों श्रद्धालुओं ने भोजन कर रात्रि विश्राम किया। इसके बाद सुबह बांसी नदी में डुबकी लगा कर लौटे श्रद्धालुओं ने पुनः उसी पंडाल में पहुंचे नि:शुल्क भंडारा में शामिल होकर भोजन किया। 
 | 
बासी मेले में आए श्रद्धालुओं के लिए नि:शुल्क भंडारे के और ठहरने की हुई थी व्यवस्था 

कांग्रेसी नेता मनीष जायसवाल मंटू की तरफ से किया गया था नि:शुल्क भंडारे और श्रद्धालुओं के ठहरने लगाया गया था पंडाल 

उपेंद्र कुशवाहा

पडरौना,कुशीनगर । कार्तिक पूर्णिमा के अवसर पर पडरौना शहर से 8 किलोमीटर दूर सिंगापट्टी गांव स्थित बांसी मेला में आए श्रद्धालुओं के लिए निशुल्क भंडारे और ठहरने की व्यवस्था किया गया था। इसमें कांग्रेसी नेता मनीष जायसवाल मंटू के तरफ से किए गए नि:शुल्क भंडारे और खाने की व्यवस्था में आए लाखों श्रद्धालुओं ने भोजन कर रात्रि विश्राम किया। इसके बाद सुबह बांसी नदी में डुबकी लगा कर लौटे श्रद्धालुओं ने पुनः उसी पंडाल में पहुंचे नि:शुल्क भंडारा में शामिल होकर भोजन किया। 

श्रद्धालुओं में किया नि:शुल्क दवा वितरण 

पडरौना,कुशीनगर। कार्तिक पूर्णिमा के अवसर पर बांसी घाट पर स्नान करने आए श्रद्धालुओं के लिए नि:शुल्क दवा वितरण का कैंप लगाया गया था। इसमें जनक फाउंडेशन की टीम की तरफ से मेले में आए श्रद्धालुओं को चोट लगने की दर्द की दवा डिटॉल, मरहम,पट्टी,ठंडा तेल,दर्द निवारक आदि दवाओं को जरूरतमंद श्रद्धालुओं में वितरण किया गया। इस दौरान समाजसेवी संतोष जयसवाल,मंटू जायसवाल, कैलाश जायसवाल,किशन जायसवाल,किशन तुलस्यान, अभिषेक केसरवानी,अनुज जायसवाल,अमित गुप्ता,शुभम जायसवाल आदि मौजूद रहे।

Text Example

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।