Jansandesh online hindi news

मनीष गुप्ता हत्या के मामले में SI राहुल दुबे व कांस्टेबल प्रशांत कुमार को कैंट पुलिस ने किया गिरफ्तार 

व्यापारी मनीष गुप्ता की गोरखपुर में कथित हत्या के आरोपी एक निरीक्षक तीन सब-इंस्पेक्टर और दो कांस्टेबल की गिरफ्तारी
 | 
SI राहुल दुबे व कांस्टेबल प्रशांत कुमार को कैंट पुलिस ने किया गिरफ्तार 
फरार आरोपी पुलिस इंस्पेक्टर और सब इंस्पेक्टर अक्षय मिश्रा गिरफ्तार 

गोरखपुर | गिरफ्तार किए गए एक आरोपी का नाम इंस्पेक्टर जेएन सिंह और दूसरे का नाम एसआई अक्षय मिश्रा है. मनीष गुप्ता मामले में दोनों पुलिसकर्मियों पर एक-एक लाख रुपये का इनाम घोषिकानपुर के कारोबारी मनीष गुप्ता अपने दोस्तों के साथ गोरखपुर के एक होटल में ठहरे हुए थे, जब पुलिसकर्मी उनके कमरे में दाखिल हो गए थे. इसके बाद उन्होंने कथित रूप से पीट-पीटकर हत्या कर दी थी. इस मामले में गोरखपुर के छह पुलिसकर्मियों को आरोपी बनाया गया है. घटना के बाद से ही सभी आरोपी फरार हो गए थे. 

मीनाक्षी गुप्ता को नियुक्ति पत्र सौंपा और संबंधित दस्तावेजों पर हस्ताक्षर कराए

 मनीष गुप्ता की पत्नी ने आज कानपुर विकास प्राधिकरण में ओएसडी की नौकरी ज्‍वाइन की सीएम योगी ने उनके पति की हत्‍या करने वाले पुलिसकर्मियों पर कठोर कार्रवाई और उन्‍हें OSD की नौकरी देने का वादा किया था। बीते रविवार को दिवंगत मीनाक्षी गुप्ता के घर केडीए की टीम पहुंची थी. टीम ने मीनाक्षी गुप्ता को नियुक्ति पत्र सौंपा और संबंधित दस्तावेजों पर हस्ताक्षर कराए थे। सुर्खियों से पता चला है की अधिकारियों और बीजेपी विधायक नेतृत्व में एक टीम मीनाक्षी के घर पहुंचकर नियुक्ति पत्र सौंपा था वहीं इस मामले में फरार आरोपी पुलिस इंस्पेक्टर जगत नारायण सिंह और सब इंस्पेक्टर अक्षय मिश्रा को यूपी पुलिस ने संडे को गिरफ्तार कर ल‍िया था ।

गौर हो कि यूपी सीएम द्वारा गठित विशेष जांच दल (SIT) ने कानपुर के एक व्यापारी मनीष गुप्ता की गोरखपुर में कथित हत्या के आरोपी एक निरीक्षक तीन सब-इंस्पेक्टर और दो कांस्टेबल की गिरफ्तारी के लिए सूचना मुहैया कराने पर एक-एक लाख रुपए का नकद इनाम देने की शनिवार को घोषणा की थी अन्य आरोपितों की तलाश में गोरखपुर के साथ ही कानपुर जिले की पुलिस छापेमारी कर यूपी के गोरखपुर में कानपुर के कारोबारी मनीष गुप्ता की कथित हत्या के मामले में मंगलवार को सब इंस्पेक्टर राहुल दुबे व कांस्टेबल प्रशांत कुमार को कैंट पुलिस ने गिरफ्तार किया है. अब तक इस मामले में चार लोगों को गिरफ्तारी हो चुकी है. इससे पहले रविवार को पुलिस ने दो आरोपी पुलिसकर्मियों को गिरफ्तार किया था. 



क्या है मामला?

गौरतलब है कि गोरखपुर जिले के रामगढ़ ताल इलाके में पुलिस ने एक होटल में तलाशी ली थी. आरोप है कि किसी अन्य व्यक्ति के पहचान पत्र के आधार पर होटल के एक कमरे में रुके तीन व्यवसायियों से पूछताछ के दौरान पुलिस ने उन्हें मारा पीटा था. सिर में चोट लगने से उनमें से मनीष गुप्ता (36) नामक कारोबारी की गोरखपुर मेडिकल कॉलेज में मौत हो गई थी. मामले में आरोपी सभी छह पुलिसकर्मियों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कर उन्हें निलंबित कर दिया गया है. घटना के वक्त गुप्ता अपने दो दोस्तों के साथ होटल में ठहरे हुए थे.

Text Example

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।