Jansandesh online hindi news

चाइल्डलाइन-1098 द्वारा दोस्ती सप्ताह का शुभारंभ,बच्चे हमारे युग निर्माता हैं- जिलाधिकारी

रिपोर्ट'सैय्यद मकसूदुल हसन
 | 
फोटो

बच्चे हमारे राष्ट्र की धरोहर हैं-पुलिस अधीक्षक।

            सुलतानपुर 09 नवम्बर/महिला एवं बाल विकास मंत्रालय भारत सरकार एवं चाइल्डलाइन इंडिया फाउंडेशन द्वारा सुलतानपुर में चाइल्ड हेल्पलाइन 1098 का संचालन प्रताप सेवा समिति के द्वारा किया जा रहा है, जिसके अंतर्गत 08 से 14 नवम्बर, 2021 तक चाइल्डलाइन से दोस्ती अभियान संचालित किया जा रहा है, जिसका शुभारम्भ जिलाधिकारी रवीश गुप्ता, पुलिस अधीक्षक डॉ0 विपिन कुमार मिश्रा व मुख्य विकास अधिकारी अतुल वत्स द्वारा संकल्प पत्र पर हस्ताक्षर करके दोस्ती सप्ताह अभियान का शुभारंभ किया गया। 
          जिलाधिकारी ने कहा कि बच्चे राष्ट्र की सम्पति हैं इनकी सुरक्षा हम सबको करना होगा। पुलिस अधीक्षक ने कहा कि चाइल्ड लाइन के हर कामो में हम सब सहयोगी हैं, कभी भी आवश्यकता पड़ने पर साथ मिलेंगे। मुख्य विकास अधिकारी अतुल वत्स ने चाइल्ड लाइन प्रताप सेवा समिति के कार्यों की प्रशंसा की। चाइल्डलाइन-1098 के निदेशक विजय विद्रोही ने बताया कि चाइल्डलाइन से दोस्ती सप्ताह के दौरान विभिन्न कार्यक्रमो का आयोजन किया जा रहा हैं, जिसमे चित्रकला, सामान्य ज्ञान खेल प्रतियोगिता पतंग बाजी आदि प्रमुख है। हस्ताक्षर अभियान में जिला प्रोबेशन अधिकारी बी0पी0 वर्मा ने बच्चों की सुरक्षा का वचन लिया। उन्होंने अपने उदबोधन में श्री वर्मा ने कहा कि बच्चे देश का भविष्य है इनकी रक्षा करना हम सब देशवासियों की जिम्मेदारी है।
          कार्यक्रम के अंत में अपर पुलिस अधीक्षक विपुल श्रीवास्तव ने चाइल्ड लाइन के कार्यक्रमों की सफलता के लिये कामना की। चाइल्डलाइन के प्रभारी केंद्र समन्वयक सन्दीप वर्मा ने टोल-फ्री नंबर चाइल्डलाइन 1098, सहित डायल 112,102 ,108, 1090 तथा 181 की भी जानकारी दी। उपरोक्त टोल-फ्री नंबर पर फोन करने पर समस्याओं का समाधान तुरंत मिलता है। कार्यक्रम को सफल बनाने में चाइल्डलाइन 1098 टीम मेंबर, सत्याशु, सभाजीत, परामर्श दात्री पूजा सिंह, सरोज यादव,  संजय पाल,  सीमा श्रीवास्तव, महिला अधिकारी रेखा गुप्ता रीना आदि  का सहयोग सराहनीय रहा है।

Text Example

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।