Jansandesh online hindi news

दिवाली पर CM YOGI का तोहफा, पेट्रोल-डीजल 12-12 रुपये किया सस्ता

महंगाई से बड़ी राहत देने के लिए दिवाली की पूर्व संध्या पर महत्वपूर्ण कदम उठाया। केंद्र सरकार ने आम लोगों को महंगाई से बड़ी राहत देने के लिए दिवाली की पूर्व संध्या पर महत्वपूर्ण कदम उठाया। ईंधन के दाम रिकॉर्ड स्तर पर पहुंचने के बाद केंद्र ने बुधवार को पेट्रोल-डीजल पर उत्पाद शुल्क में क्रमश: 5 रुपये और 10 रुपये की कटौती की।
 | 
दिवाली का बड़ा CM YOGI का तोहफा, पेट्रोल-डीजल 12-12 रुपये किया सस्ता

केंद्र सरकार ने आम लोगों को महंगाई से बड़ी राहत देने के लिए दिवाली की पूर्व संध्या पर महत्वपूर्ण कदम उठाया। केंद्र सरकार ने आम लोगों को महंगाई से बड़ी राहत देने के लिए दिवाली की पूर्व संध्या पर महत्वपूर्ण कदम उठाया। ईंधन के दाम रिकॉर्ड स्तर पर पहुंचने के बाद केंद्र ने बुधवार को पेट्रोल-डीजल पर उत्पाद शुल्क में क्रमश: 5 रुपये और 10 रुपये की कटौती की। इसके बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ नेउच्चस्तरीय बैठक की। इसमें राज्य सरकार ने भी प्रदेश में पेट्रोल पर 7 रुपये और डीजल पर दो रुपये कम करने का फैसला किया। इस तरह प्रदेश में डीजल 12 रुपये और पेट्रोल भी 12 रुपये सस्ता हो गया है। यह फैसला गुरुवार से लागू होगा। 

केंद्र की इस घोषणा से ईंधन की आसमान छूती कीमतों को नीचे लाने में मदद मिलेगी और महंगाई की मार झेल रहे आम आदमी को भी कुछ राहत मिलेगी। उत्पाद शुल्क में कमी 4 नवंबर से प्रभाव में आएगी। इसके साथ पेट्रोल की कीमत दिल्ली में मौजूदा 110.04 रुपये प्रति लीटर से घटकर 105.04 रुपये प्रति लीटर जबकि डीजल की कीमत 98.42 रुपये प्रति लीटर से घटकर 88.42 रुपये प्रति लीटर हो जाएगी। वित्त मंत्रालय ने एक बयान में कहा, भारत सरकार ने गुरुवार से पेट्रोल और डीजल पर केंद्रीय उत्पाद शुल्क में क्रमश: 5 रुपये और 10 रुपये की कमी करने का एक महत्वपूर्ण फैसला किया है। इससे पेट्रोल और डीजल की कीमतों में कमी आएगी। हाल के महीनों में कच्चे तेल की कीमतों में वैश्विक स्तर पर उछाल देखा गया है। इस वजह से हाल के हफ्तों में पेट्रोल और डीजल की घरेलू कीमतों में वृद्धि हुई है, जिससे मुद्रास्फीति संबंधी दबाव बढ़ गया है। 

यूपी में पेट्रोल पर मौजूदा वैट 17.74 रुपये प्रति लीटर है। सात रुपये प्रति लीटर कम होने पर पेट्रोल पर वैट 10.74 रुपये प्रति लीटर लगेगा। इसी तरह डीज़ल पर वैट प्रति लीटर 10.41 रुपये है। इस पर 2 रुपये कम होने पर ये अब 8.41 रुपये प्रति लीटर हो जाएगा। उत्पाद शुल्क में सबसे अधिक कमी यह उत्पाद शुल्क में की गई अब तक की सबसे अधिक कमी है। इसके साथ मार्च 2020 से मई 2020 के बीच पेट्रोल एवं डीजल पर करों में 13 रुपये और 16 रुपये प्रति लीटर की वृद्धि का एक हिस्सा वापस ले लिया गया है। उत्पाद शुल्क में उस समय की वृद्धि से पेट्रोल पर केंद्रीय कर 32.9 रुपये प्रति लीटर और डीजल पर 31.8 रुपये प्रति लीटर के उच्चतम स्तर पर पहुंच गया था। लगातार हमलावर था विपक्ष ईंधन की कीमतों में लगातार हुई वृद्धि की विपक्षी दलों ने कड़ी आलोचना की थी। खासकर कांग्रेस ने आलोचना करते हुए सरकार से उत्पाद शुल्क वापस लेने की मांग की थी।
 

Text Example

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।