Jansandesh online hindi news

पालीगंज में तीज को लेकर बाजारों में बढ़ी चहल-पहल, खरीदारी करने पहुंची लोग
 

 | 
पालीगंज में तीज को लेकर बाजारों में बढ़ी चहल-पहल, खरीदारी करने पहुंची लोग

रिपोर्ट- नितीश कुमार

जिला - पटना

पालीगंज तीज को लेकर बाजारों में बढ़ी चहल-पहल, खरीदारी करने पहुंची महिलाओं ने हरतालिका तीज भाद्रपद माह के शुक्ल पक्ष की तृतीया को मनाई जाती है. हरतालिका तीज को तीजा के नाम से भी जाना जाता है. इस दिन भगवान शिव और माता पार्वती की पूजा का विशेष महत्व है. इस बार हरतालिका तीज 9 सितंबर दिन गुरुवार को मनाई जाएगी. हरतालिका तीज भाद्रपद माह के शुक्ल पक्ष की तृतीया को मनाई जाती है. हरतालिका तीज को तीजा के नाम से भी जाना जाता है. इस दिन भगवान शिव और माता पार्वती की पूजा का विशेष महत्व है. इस बार हरतालिका तीज 9 सितंबर दिन गुरुवार को मनाई जा रहीं हैं इस दिन सुहागिन स्त्रियां निर्जल और निराहार रहकर अपने पति की लंबी आयु के लिए व्रत रखती हैं. बता दें गुरूवार को तीज है तो बाजार में भी रौनक दिखाई दे रही है. तीज को लेकर पालीगंज के बाजारों में चहल-पहल बढ़ गई है. महिलाएं सोलह शृंगार के सामानों की खरीदारी में जुट हुइ है. शहर के पालीगंज चौक बाजार , समेत सभी इलाकों में महिलाएं अपने मनपसंद सामानों की खरीदारी करते नजर आई

दुकानदारों का कहना है कि कोरोना के बाद पहली बार तीज में रौनक लौटी है, लेकिन’ खरीदारों में वह जोश नहीं दिख रहा है जो पूर्व में हुआ करता था. उन्होंने कहा कि लॉक डाउन का असर इस बार के बाजार में दिख रहा है. बावजूद इसके महिलाएं तीज के लिए काफी उत्साहित दिख रही हैं. खरीदारी करने आई एक महिला ने कहा कि इस बार हम लोग उतनी खरीदारी नहीं कर पा रहे हैं, जितनी कि पूर्व में किया करते थे. यानी सीधे तौर पर यह कहा जा सकता है कि लॉकडाउन का असर इस बार तीज के बाजार में साफ दिख रहा है. जाहिर है कोरोना काल ने लोगों को बाजार से दूर कर दिया. इतना ही नहीं आर्थिक संकट की वजह से भी लोगों की खरीदारी में कमी आई है. पहले लोग जिस उत्साह से त्योहारों को मनाते थे. वो देखने को नहीं मिल रहा है.

Text Example

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।