Jansandesh online hindi news

'समाजवादी इत्र' बनाने वाले कारोबारी Piyush Jain के घर IT का छापा, मिला नोटों के बंडल से भरा कमरा, कैश देख अधिकारियों के उड़ गये होश !

 पीयूष जैन के आवास पर जैसे ही अफसर पहुंचे और आलमारियां खोलनी शुरू की तो उनके होश उड़ गए. अलमारियों में 500-500 नोटों के बंडल भरे पड़े थे. इसके बाद आयकर विभाग को सूचना दी गई. मौके पर IT की टीम नोट गिनने वाली मशीन लेकर पहुंची. इसके बाद से ही नोटों की गिनती जारी है. बताया जा रहा है कि आयकर विभाग ने 150 करोड़ की नकदी बरामद की है.
 | 
'समाजवादी इत्र' बनाने वाले कारोबारी Piyush Jain के घर IT का छापा, मिला नोटों के बंडल से भरा कमरा, कैश देख अधिकारियों के उड़ गये होश !

लखनऊ: अहमदाबाद की DGGI टीम ने एक ट्रक की तलाशी ली थी. इस ट्रक में जा रहे सामानों का बिल फर्जी कंपनियों के नाम पर बनाया गया था. तमाम बिल 50 हजार रुपये से कम के थे, ताकि Eway Bill न बनाना पड़े. इसके बाद DGGI ने कानपुर में ट्रांसपोर्टर के घर पर रेड मारी. यहां पर DGGI को लगभग 200 फर्जी बिल मिले. यहीं से DGGI को पीयूष जैन और फर्जी बिलों के कनेक्शन को लेकर कुछ सुराग मिला.इसके बाद DGGI ने समाजवादी इत्र बनाने वाले पीयूष जैन के घर पर रेड मार दी.

पीयूष जैन के आवास पर जैसे ही अफसर पहुंचे और आलमारियां खोलनी शुरू की तो उनके होश उड़ गए. अलमारियों में 500-500 नोटों के बंडल भरे पड़े थे. इसके बाद आयकर विभाग को सूचना दी गई. मौके पर IT की टीम नोट गिनने वाली मशीन लेकर पहुंची. इसके बाद से ही नोटों की गिनती जारी है. बताया जा रहा है कि आयकर विभाग ने 150 करोड़ की नकदी बरामद की है.

अखिलेश यादव की पार्टी सपा के लिए 'समाजवादी इत्र' बनाने वाले कारोबारी पीयूष जैन के घर पर गुड्स एंड सर्विस टैक्स इंटेलिजेंस महानिदेशालय, अहमदाबाद (DGGI) और आयकर विभाग ने छापा मारा है. पीयूष जैन के घर से कई करोड़ों रुपये की नगदी बरामद हुई है. इस बीच भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) नेताओं ने उनके घर से मिली नकदी की एक तस्वीर साझा की है. नोटों से भरे कमरे की तस्वीर के माध्यम से भाजपा नेताओं और केंद्रीय मंत्रियों ने समाजवादी पार्टी (सपा) को घेरा है.


 

Text Example

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।