Jansandesh online hindi news

कानपुर के कमिश्नर डॉ राजशेखर ने दो बसों में सफर किया, कोई भी कोविड प्रोटोकॉल का पालन करता नहीं मिला

 | 
कानपुर के कमिश्नर डॉ राजशेखर ने दो बसों में सफर किया, कोई भी कोविड प्रोटोकॉल का पालन करता नहीं मिला

कानपुर

उत्तर प्रदेश के कानपुर (Kanpur) में मंडलायुक्त डॉ राजेशखर ने गुरुवार को अपनी टीम के साथ सिटी  बस में सफर किया. इस दौरान उन्होंने शहर में विकास कार्यों का जायजा लेने के साथ ही वहीं बसों में कोरोना की गाइडलाइंस का पालन हो रहा है कि नहीं? उसकी वास्तविकता भी जानी. इस दौरान तमाम खामियां और कोविड-19 प्रोटोकॉल का पालन न होने के चलते 13 कंडक्टर और 14 बस ड्राइवरों पर गाज गिर गई.

मंडलायुक्त ने एक आम आदमी की तरह बस में सफर किया. कानपुर के कमिश्नर डॉ राजशेखर ने आम आदमी की तरह बस में यात्रा की. उन्होंने 6 किलोमीटर तक दो बार अपना स्थान बदला ताकि बस में दोनों आमने-सामने खिड़कियों के माध्यम से शहर के वास्तविकता जान सकें. वहीं बसों की खस्ता हालत और कोविड-19  पालन की भी सत्यता को जाना.

कर दी बड़ी कार्रवाई

कमिश्नर ने इस दौरान 13 बसों के कंडक्टर को निलंबित करने और 14 बस चालकों को नौकरी से निकालने के निर्देश दिए हैं. दरअसल सिटी बसों में कोविड प्रोटोकाल का पालन नहीं किया जा रहा था. कमिश्नर डॉ राजशेखर ने दो बसों में सफर किया. कमिश्नर ने देखा कि बस कंडक्टर ने एक यात्री से रुपये तो लिए, लेकिन उसे टिकट नहीं दिया. यहां तक कि बस कंडक्टर और चालक भी मास्क नहीं लगाए हुए थे. कोई भी कोविड प्रोटोकॉल का पालन करता नहीं मिला.

सिटी बसों की लचर व्यवस्था को देख कमिश्नर ने 13 बसों के कंडक्टर को निलंबित करने और 14 बस चालकों को नौकरी से निकालने के आदेश दिये हैं, जिसके बाद से विभाग में हड़कंप मच गया. वैसे डॉ राजशेखर कभी बिजली विभाग के दफ्तर जाकर आम आदमी की तरह विभाग के बने काउंटरों पर बिल जमा करते दिखते हैं या फिर विभागों में निरीक्षण करने के कारण भी चर्चा में रहते हैं. रोडवेज की बस में यात्रा करने के बाद से भ्रष्ट और लापरवाह अधिकारियों में डॉ राजशेखर की दहशत देखने को मिल रही है.

Text Example

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।