Jansandesh online hindi news

VIDEO : पुलिस कांस्टेबल को दो युवकों ने बार के अंदर जमकर पीटा, वीडियो वायरल, दो गिरफ्तार

शराब की कैंटीन में जूही थाने में तैनात कांस्टेबल को दो युवकों ने जमकर पटाई की। कांस्टेबल की पिटाई का वीडियो वायरल होने के बाद दोनों युवकों पर पुलिस ने कार्यवाही की। मीडिया खबरों के अनुसार कानपुर में जूही गोशाला के पास स्थित बार में रविवार को बहस के बाद दो युवकों ने जूही थाने में तैनात सिपाही भुवनेश कुमार को जमकर पीटा। वर्दी का कॉलर पकड़कर घसीटते हुए बाहर लाए। 
 | 
पुलिस कांस्टेबल को दो युवकों ने बार के अंदर जमकर पीटा, वीडियो वायरल, दो गिरफ्तार

कानपुर । शराब की कैंटीन में जूही थाने में तैनात कांस्टेबल को दो युवकों ने जमकर पटाई की। कांस्टेबल की पिटाई का वीडियो वायरल होने के बाद दोनों युवकों पर पुलिस ने कार्यवाही की। मीडिया खबरों के अनुसार कानपुर में जूही गोशाला के पास स्थित बार में रविवार को बहस के बाद दो युवकों ने जूही थाने में तैनात सिपाही भुवनेश कुमार को जमकर पीटा। वर्दी का कॉलर पकड़कर घसीटते हुए बाहर लाए। 

मारपीट का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया। सिपाही थाने न आकर बार में शराब पी रहा था। किदवई नगर थाना प्रभारी हरमीत सिंह ने बताया कि रविवार दोपहर सिपाही की पिटाई का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था। 

वीडियो में एच ब्लॉक निवासी नवीन मिश्रा व गौरव शुक्ला मिलकर सिपाही को पीटते नजर आ रहे हैं। सिपाही की तहरीर पर दोनों के खिलाफ एससी, एसटी एक्ट, गालीगलौज व मारपीट की धाराओं में एफआईआर दर्ज कर उनकी गिरफ्तारी की गई है। 

पुलिस की जांच पड़ताल में पता चला कि सिपाही भुवनेश की तैनाती जूही थाने में है। वह बीती 26 सितंबर से गैरहाजिर है। इसके पहले वह फरवरी में भी थाने से बिना किसी सूचना के गौरहाजिर हो गया था। इस संबंध में विभागीय कार्रवाई के लिए सिपाही की रिपोर्ट आलाधिकारियों को भेजी गई है। 

वहीं, जूही थाना प्रभारी संतोष आर्य ने बताया कि सिपाही के संबंध में वह पूर्व में ही अधिकारियों को रिपोर्ट प्रेषित कर चुके हैं। उन्होंने बताया कि सिपाही थाने न आकर वर्दी पहन कर बार में बैठा शराब पी रहा था। तभी विवाद के बाद आरोपियों ने उसे पीट दिया।


 

Text Example

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।