Jansandesh online hindi news

केजरीवाल लखनऊ रैली में बोले - पूर्व सरकारों ने कब्रिस्तान और श्मशान बनवाए, मैं स्कूल बनवाऊंगा

केजरीवाल लखनऊ रैली में बोले - पूर्व सरकारों ने कब्रिस्तान और श्मशान बनवाए, मैं स्कूल बनवाऊंगा

 | 
केजरीवाल लखनऊ रैली में बोले - पूर्व सरकारों ने कब्रिस्तान और श्मशान बनवाए, मैं स्कूल बनवाऊंगा

लखनऊ: देश के सबसे बड़े राज्य यूपी में AAP ने अरविंद केजरीवाल की महारैली के माध्यम से चुनावी बिगुल फूंक दिया है. रविवार को लखनऊ में आयोजित आम आदमी पार्टी की रैली में दिल्ली के सीएम एवं पार्टी राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल ने भारतीय जनता पार्टी पर खूब हमला बोला तथा ऐलानों की झड़ी लगा दी. मुख्यमंत्री केजरीवाल ने हमला बोलते कहा कि उत्तर प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी के सबसे बड़े नेता ने आकर कहा था कि यदि उत्तर प्रदेश में कब्रिस्तान बनते हैं तो श्मशान घाट भी बनने चाहिए. पुरानी सरकार ने केवल कब्रिस्तान बनवाए तथा योगी सरकार ने केवल श्मशान घाट बनवाए, हमें अवसर प्राप्त होने पर आपके बच्चों के लिए विद्यालय एवं सबके लिए हॉस्पिटल बनवाए जाएंगे.

वही स्मृति उपवन मैदान में रैली को संबोधित करते हुए केजरीवाल ने हमला बोलते हुए कहा, बीते 5 वर्षों में योगी सरकार ने न सिर्फ श्मशान बनवाए, बल्कि बहुत बड़े आंकड़े में लोगों को वहां तक पहुंचाने का काम भी किया. उन्होंने इल्जाम लगाते हुए कहा कि जिस प्रकार कोरोना काल में पुरे विश्व में उत्तर प्रदेश के कोरोना प्रबंधन को लेकर थू-थू हुई, उस पर पर्दा डालने के लिए अमेरिका की सबसे बड़ी मैगजीन में योगी सरकार ने 10-10 पेज के विज्ञापन देने पड़े. इन विज्ञापनों पर प्रदेश की सरकार ने करोड़ों रुपए फूंक दिए. 

वही केजरीवाल ने अपने भाषण में आगे बताया, शिक्षा को लेकर 70 वर्ष पश्चात् भी हम बाबा साहब अंबेडकर का सपना पूरा नहीं कर पाए, जिसमें उन्होंने सबको शिक्षित करने की बात कही थी. मगर भले ही मेरा पूरा जीवन उनका यह सपना पूरा करने में चला जाए, मैं ये काम करके रहूंगा. आम आदमी पार्टी नेता ने कहा कि सभी दलों ने जान-बूझकर लोगों को अनपढ़ तथा गरीब रखा. यदि हमने 5 वर्षों में दिल्ली में सरकारी विद्यालय ठीक कर दिए तो क्या उत्तर प्रदेश में नहीं हो सकते थे? मगर अब हम यह काम पूरा करेंगे.

Text Example

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।