Jansandesh online hindi news

कुशीनगर : धूमधाम से मनाई गई गोवर्धन पूजा,बहनों ने भाइयों के दीर्घायु होने की कामना की

गोवर्धन पूजा और भैया-दूज का त्योहार पारंपरिक रूप से हर्षोल्लास पूर्वक मनाया गया। लड़कियों और महिलाओं ने सुबह गाय के गोबर से गोवर्धन बनाया और दोपहर बाद मूसल से कूटकर भाइयों के दीर्घायु होने की कामना की। इस त्योहार के साथ ही मांगलिक कार्य भी प्रारंभ हो जाएंगे। 
 | 
कुशीनगर : धूमधाम से मनाई गई गोवर्धन पूजा,बहनों ने भाइयों के दीर्घायु होने की कामना की

उपेंद्र कुशवाहा

पडरौना। शनिवार को जिले में गोवर्धन पूजा और भैया-दूज का त्योहार पारंपरिक रूप से हर्षोल्लास पूर्वक मनाया गया। लड़कियों और महिलाओं ने सुबह गाय के गोबर से गोवर्धन बनाया और दोपहर बाद मूसल से कूटकर भाइयों के दीर्घायु होने की कामना की। इस त्योहार के साथ ही मांगलिक कार्य भी प्रारंभ हो जाएंगे। 

उल्लेखनीय है कि कार्तिक मास के शुक्ल पक्ष की द्वितीया को गोवर्धन पूजा होती है। इस त्योहार के पीछे कई किंवदंतियां प्रचलित हैं। मान्यता है कि छह माह से सो रहे भगवान विष्णु गोवर्धन पूजा के दिन ही निद्रा का त्याग करते हैं। इसीलिए इन छह महीनों में विवाह आदि मांगलिक कार्य नहीं होते। परंतु गोवर्धन पूजा के बाद से सभी मांगलिक कार्य शुरू हो जाते हैं। दीपावली के दूसरे दिन पड़ने वाले इस त्योहार को भैया-दूज के रूप में भी जाना जाता है।

सुबह लड़कियों और महिलाओं ने परंपरानुसार सुबह गांव में सार्वजनिक स्थानों पर समवेत रूप से गाय के गोबर से गोवर्धन बनाया। दोपहर बाद लड़कियों और महिलाओं ने उठहू हे देव उठहू, सुतले भईल छह मास..का पारंपरिक गीत गाते हुए गोवर्धन की मूसल से कुटाई करके भाइयों के दीर्घायु होने की कामना की। पडरौना नगर के विभिन्न मोहल्लों,समीपवर्ती गांव भरवलिया,भटवलिया,वंधुछपरा,  सिधुआ बाजार में गोबर्धन पूजा की गई।

Text Example

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।