Jansandesh online hindi news

‘अंतर्राष्ट्रीय नर्स दिवस’ पर नया भारत दर्पण महिलाओं को सलाम करता है, अपनों से दूर रहकर भी निभा रहे ड्यूटी की पूरी जिम्मेदारी

उमाकांत गौतम की रिपोर्ट लखनऊ- नया भारत दर्पण में महिला नर्सों को सलाम। कोविड-19 की इस महामारी में अपने घर और परिवार से दूर रहकर सेवा में लीन है ऐसे में उनके व्यक्तित्व को सलाम करता है भारत। जहां, आज कोरोना महामारी के इस दौर में नर्स बेहद अहम भूमिका निभा रही हैं। खुद की
 | 
‘अंतर्राष्ट्रीय नर्स दिवस’ पर नया भारत दर्पण महिलाओं को सलाम करता है, अपनों से दूर रहकर भी निभा रहे ड्यूटी की पूरी जिम्मेदारी

उमाकांत गौतम की रिपोर्ट

लखनऊ- नया भारत दर्पण में महिला नर्सों को सलाम। कोविड-19 की इस महामारी में अपने घर और परिवार से दूर रहकर सेवा में लीन है ऐसे में उनके व्यक्तित्व को सलाम करता है भारत। जहां, आज कोरोना महामारी के इस दौर में नर्स बेहद अहम भूमिका निभा रही हैं। खुद की जान पर खेलकर मरीजों का इलाज करने में मदद कर रही हैं और पूरी निष्ठा और ईमानदारी के साथ ड्यूटी कर रही हैं। अंतरराष्ट्रीय नर्स दिवस पर इनकी सेवा को याद करना जरूरी है, क्योंकि बिना नर्सिंग स्टाफ के इस लड़ाई को लड़ना मुमकिन नहीं है। सी.एम.ओ. ऑफिस के कोरोना महामारी के निर्देश पर वर्क कर रही विजमा रानी बताती है कि अपने सर की टीम मेंबर्स शांति (स्टॉफ नर्स) और संजय (LT) के साथ के साथ सुबह निकलते हैं और घर-घर जाकर वह कोविड मरीजों की देखभाल करती हैं और उन्हें सुरक्षित रहने के उपाय भी बताती हैं।‘अंतर्राष्ट्रीय नर्स दिवस’ पर नया भारत दर्पण महिलाओं को सलाम करता है, अपनों से दूर रहकर भी निभा रहे ड्यूटी की पूरी जिम्मेदारी

निशा कनौजिया एक नर्स होने के नाते बताती हैं की बात चाहे कोरोना जैसे महामारी की हो या उनके इलाज की हो या फिर सड़क पर घायलों की सेवा की हो सभी जगह डॉक्टर के साथ नर्सों की जरूरत होती है नर्स के बिना कोई भी रोगी का इलाज संभव नहीं है इस समय दुनिया में ज्यादातर देश कोरोना महामारी से लड़ रहा है इसमें सबसे ज्यादा नर्स कोरोना वॉरियर्स बनकर सभी मरीजों की सेवा कर रही हैं तथा उसे स्वस्थ बनाने में अपनी पूरी कोशिश कर रही हैं। तभी कहा जाता है कि,
Doctors are the brain of the hospitals: Nurses are the heart. If brain heart will manage, but heart fails nothing with manage.

किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी की पुष्पा कुमारी बताती हैं कि जहां आज पूरा विश्व महामारी से परेशान है वही पर मध्यम वर्गीय परिवार को तथा निचले स्तर पर गुजारा कर रहे हैं लोगों को बताती है कि वह स्वस्थ रहने के लिए इस महामारी में खुद को मास्क तथा डिस्टेंस में रखें ताकि वह इस महामारी से खुद को और अपने परिवार को सुरक्षित रख सके।

स्वाति शर्मा बताती है नर्स होने के बाद मेरा पहला पेशा मरीजों की सेवा करना रहा है ऐसे में कोरोना महामारी के चलते हम लोगों को बेहतर सेवा प्रदान करने में एक दूसरे का साथ चाहते हैं और प्रयास करते हैं कि जहां पर हम नहीं पहुंच पा रहे हैं वहां आप सभी हमारे द्वारा दिए गए निर्देशों का पालन कर खुद को सुरक्षित रखें।

नित्या मिश्रा लोक बंधु हॉस्पिटल के मरीजों की देखभाल करते हुए उन सभी महिलाओं को इस अंतरराष्ट्रीय नर्स दिवस की बधाई देते हुए कहते हैं वो सभी महिलाएं आज के युग की नर्स है जो अपने परिवार को इस कोरोना काल में घर रह कर सेवा कर रही हैं ऐसे में वह भी महिलाएं किसी नर्स से कम नहीं है।

रानी लक्ष्मीबाई हॉस्पिटल की नेहा अपने स्टाफ मेंबर्स की सराहना करते हुए कहते है है की इस महामारी में खुद को स्वस्थ रखना है तो एक दूसरे का ख्याल जरूर रखें और एक दूसरे का साथ दें।