Jansandesh online hindi news

  महापर्व छठ : कुशीनगर मे अस्ताचलगामी डुबते सूर्य को महिलाओ ने दिया अर्घ्य

छठ व्रतियों ने भगवान भाष्कर को दियों, तालाबों सहित अपने अपने छठ घाटो पर डुबते सुर्य को अर्घ्य दिया। पडरौना नगर के रामधधाम पोखरा स्थित छठ घाट पर बुधवार की शाम अर्घ्य देने के लिए लोगों की काफी भीड़ रही। छठ का अद्भुत नजारा देखने को मिला। जैसे-जैसे अर्घ्य देने का वक्त का नजदीक आ रहा था व्रतियों की कतारें बढ़ती जा रही थीं। भगवान सूर्य के अस्ताचल में जाने के बाद श्रद्धालुओं ने अर्घ्य दिया और अपने के घर की ओर लौट गए तो वहीं कुछ श्रद्धालु छठ पर रात बिताने के बाद सुबह अर्घ्य देकर लौटे |
 | 
  महापर्व छठ : कुशीनगर मे अस्ताचलगामी डुबते सूर्य को महिलाओ ने दिया अर्घ्य

उपेंद्र कुशवाहा

पडरौना,कुशीनगर । छठ व्रतियों ने भगवान भाष्कर को दियों, तालाबों सहित अपने अपने छठ घाटो पर डुबते सुर्य को अर्घ्य दिया। पडरौना नगर के रामधधाम पोखरा स्थित छठ घाट पर बुधवार की शाम अर्घ्य देने के लिए लोगों की काफी भीड़ रही। छठ का अद्भुत नजारा देखने को मिला। जैसे-जैसे अर्घ्य देने का वक्त का नजदीक आ रहा था व्रतियों की कतारें बढ़ती जा रही थीं। भगवान सूर्य के अस्ताचल में जाने के बाद श्रद्धालुओं ने अर्घ्य दिया और अपने के घर की ओर लौट गए तो वहीं कुछ श्रद्धालु छठ पर रात बिताने के बाद सुबह अर्घ्य देकर लौटे | पडरौना में कुछ लोग पैदल ही छठ पर गए तो कुछ लोग गाड़ी से निकले। सड़कों पर काफी भीड़ रही। गाड़ी के लिए पार्किंग करने की जगह-जगह व्यवस्था की गई थी,जहां गाड़ियां खड़ी कर लोग पैदल छठ घाट पर जा सकते हैं | 

कुशीनगर में छठ घाटों पर अभूतपूर्व सुरक्षा के किए गए थे इंतजाम 

कुशीनगर में पडरौना नगर समेत कसया,कप्तानगंज, रामकोला,पडरौना , सेवरही,तमकुहीराज,खड्डा,हाटा,फाजिलनगर सहित सभी जिले के ग्रामिण इलाको मे भी  छठ घाटो पर अर्घ्य देने के लिए आस्था का सैलाब उमड़ा। हर छठ घाट के किनारे अर्घ्य के लिए लोग इकट्ठा हुए। छठ के घाटों को रंग-बिरंगे बल्बों से सजाया गया था । घाट पर छठ के गीत बज रहे हैं। पूरा माहौल छठमय हो गया था। पडरौना नगर के रामधाम पोखरा पर डीएम एस राज लिंगम,एसपी सचिंद्र पटेल,सीओ संदीप वर्मा, कोतवाल पडरौना निर्भय नारायण सिंह,पुलिस के जवान के साथ पल पल का जायजा लेते रहे।

Text Example

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।