Jansandesh online hindi news

नाबालिग युवती के साथ 3 हैवानों ने किया सामूहिक दुष्कर्म, फिर सिर कुचल मार डाला !

15 साल की आदिवासी नाबालिग युवती के साथ सामूहिक दुष्कर्म को अंजाम देने के पश्चात् पत्थर से कुचलकर उसका क़त्ल कर दिया गया। परिवार वालों ने खोज किया तो जंगल में लड़की का शव मिला। केस में तीनों अपराधियों को गिरफ़्तार किया गया है। 3 हैवानों ने पहले युवती के साथ दुष्कर्म किया तथा फिर गला घोंट कर उसे मार डाला था। विरोध करने पर उन्होंने नाबालिग के शरीर को नोच डाला था।
 | 
नाबालिग युवती के साथ 3 हैवानों ने किया सामूहिक दुष्कर्म, फिर सिर कुचल मार डाला !

बूंदी: राजस्थान के बूंदी में 15 साल की आदिवासी नाबालिग युवती के साथ सामूहिक दुष्कर्म को अंजाम देने के पश्चात् पत्थर से कुचलकर उसका क़त्ल कर दिया गया। परिवार वालों ने खोज किया तो जंगल में लड़की का शव मिला। केस में तीनों अपराधियों को गिरफ़्तार किया गया है। 3 हैवानों ने पहले युवती के साथ दुष्कर्म किया तथा फिर गला घोंट कर उसे मार डाला था। विरोध करने पर उन्होंने नाबालिग के शरीर को नोच डाला था।

वही अरेस्ट किए गए तीनों में से एक अपराधी नाबालिग है। केवल 12 घंटे में मामले का खुलासा कर पुलिस ने रेप तथा हत्या प्रकरण का मुकदमा दर्ज किया। वारदात बूंदी जिले के बसोली थाना क्षेत्र के काला कुआं गांव की है। यहां तीन दरिंदे एक 15 वर्षीय बालिका को अपहरण कर जंगल में ले गए तथा वहां से बारी-बारी से सामूहिक दुष्कर्म की घटना को अंजाम देने के पश्चात् में ,पहले उसका गला घोंटा तथा पत्थर से उसकी सिर कुचल दिया। वे लोग युवती को घसीटते हुए उसे जंगल में गए थे।

परिवार युवती को तलाशने लगा तो गांव की किसी महिला ने बताया कि इधर जंगल से युवती की चीखने की आवाज आई थी। युवती का पिता तलाशता हुआ गया तो वहां पीड़िता के शव को नग्न अवस्था में पाया। जब पुलिस को इस पूरे घटनाक्रम का पता लगा तो मौके पर बसोली थाना पुलिस पहुंची तथा आला अफसरों को खबर दी गई। जैसे ही पुलिस अधीक्षक जय यादव को केस की जानकारी लगी, वे अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक के साथ मौके पर पहुंचे, तथा स्थितियों का मुआयना किया। मौके पर ही एफएसएल टीम तथा डॉग स्क्वायड बुलाया गया। डॉग स्क्वायड की सहायता से अपराधियों की पहचान की गई।

Text Example

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।