Jansandesh online hindi news

चुनावों से पहले मुख्तार अंसारी और उनका परिवार समाजवादी पार्टी का दामन थाम सकता है

 | 
चुनावों से पहले मुख्तार अंसारी और उनका परिवार समाजवादी पार्टी का दामन थाम सकता है

लखनऊ

बसपा सुप्रीमो मायावती (BSP Chief Mayawati) अंसारी बंधुओं पर बड़ा फैसला ले सकती हैं. सूत्रों की माने तो बांदा जेल में बंद बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी (Mukhtar Ansari) और गाजीपुर से बसपा के सांसद अफजाल अंसारी (Afzal Ansari) को बहुजन समाज पार्टी से बाहर का रास्ता दिखाया जा सकता है. खबरों के मुताबिक समाजवादी पार्टी से बढ़ रही नजदीकियों के चलते अंसारी बंधुओं पर बसपा सुप्रीमो मायावती यह कार्रवाई कर सकती. आपको बता दें कि अभी कुछ दिन पहले ही मुख्तार अंसारी के बड़े भाई सिगबतुल्लाह अंसारी ने अखिलेश यादव की मौजूदगी में समाजवादी पार्टी जॉइन की थी. साथ ही उनके बेटे ने भी सपा का दामन थामा था.

खबरों की माने तो चुनावों से पहले मुख्तार अंसारी और उनका परिवार भी समाजवादी पार्टी का दामन थाम सकता है. इसके साथ ही साथ मुख्तार अंसारी के तीसरे भाई अफजाल अंसारी समाजवादी पार्टी के टिकट पर ही इस बार का चुनाव लड़ सकते हैं. हालांकि अफजाल अंसारी अभी बहुजन समाज पार्टी के टिकट पर पूर्वांचल की गाज़ीपुर सीट से सांसद है.

ये है वजह
पार्टी विरोधी और बहुजन समाज पार्टी के खिलाफ रहने के चलते बसपा सुप्रीमो उन पर कार्रवाई कर सकती हैं. इधर बहुजन समाज पार्टी में भी मायावती की एक्टिवनेस यह बताती है कि वे 2022 के विधानसभा चुनाव के लिए  कोई कोर कसर नहीं छोड़ना चाहती. हालांकि सांसद अफजाल अंसारी का लगभग 3 साल का कार्यकाल बचा हुआ है. ऐसे में बसपा सुप्रीमो किस तरह उन्हें पार्टी से निकालती है यह देखने वाली बात होगी.

मुख्तार अंसारी व बेटे अब्बास सपा से लड़ सकते हैं चुनाव 
खबर ये भी है कि समाजवादी पार्टी मुख्तार अंसारी और उनके बेटे अब्बास अंसारी को आगामी विधानसभा चुनाव में टिकट दे सकती है. फिलहाल मुख़्तार अंसारी बांदा जेल में बंद हैं.

Text Example

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।