Jansandesh online hindi news

जनपद के 5 शिवालयों पर जनप्रतिनिधियों ने किया रुद्राभिषेक एवं दर्शन, पूजन।

रिपोर्ट:सैय्यद मकसूदुल हसन
 | 
फोटो

केदारनाथ धाम में आयोजित आदिगुरु शंकराचार्य जी की प्रतिमा का प्रधानमंत्री जी द्वारा किए गए अनावरण का दिखाया गया सजीव प्रसारण।

जय बाबा केदारनाथ के जयकारों से गूंजे शिवालय।


अमेठी। दीवाली के बाद गोवर्धन पूजा की सुबह उस वक्त शिव के जयकारों से गुंजायमान हो उठी जब देश के प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने उत्तराखण्ड की पावन धरती पर बाबा केदारनाथ धाम से जय बाबा केदारनाथ का उद्घोष किया। श्री केदार धाम की भव्यता को नया आयाम, आदि गुरू श्री शंकराचार्य की समाधि व प्रतिमा का लोकार्पण करने के साथ-साथ विभिन्न विकास कार्यक्रमों का उद्घाटन प्रधानमंत्री जी के कर कमलों द्वारा किया गया। कार्यक्रमों के सजीव प्रसारण को लोगों ने बड़ी तन्मयता के साथ देखा। इस अवसर पर जिले के 05 शिवालयों में भव्यता के साथ कार्यक्रम आयोजित हुआ और पांचों शिवालयों पर मा0 प्रधानमंत्री जी के कार्यक्रम का सजीव प्रसारण किया गया। सजीव प्रसारण कार्यक्रम में श्री मुकुट नाथ मंदिर ताला में मा0 विधायक अमेठी श्रीमती गरिमा सिंह, महादेवन गुन्नौर में जिलाध्यक्ष श्री दुर्गेश त्रिपाठी, श्री तपेश्वर नाथ मंदिर पीढ़ी में सह जिला उपाध्यक्ष श्री भवानी दत्त दीक्षित, शिव मंदिर जमुरवा में ब्लॉक प्रमुख तिलोई प्रतिनिधि श्री कृष्ण कुमार सिंह (मुन्ना सिंह) तथा श्री दण्डेश्वर धाम कोछित में अन्य जनप्रतिनिधि बतौर मुख्य अतिथि उपस्थित रहे। इस अवसर पर जनप्रतिनिधियों द्वारा शिवालयों में जलाभिषेक कर भगवान भोलेनाथ की पूजा अर्चना की गई। बताते चलें कि गोवर्धन पूजा के अवसर मा0 प्रधानमंत्री ने बाबा केदारनाथ धाम पहुंचकर जहां एक ओर अरबों की लागत से परियोजनाओं का लोकार्पण व शिलान्यास किया वहीं दूसरी ओर अयोध्या की ऐतिहासिक दीपावली का जिक्र करना नहीं भूले। उन्होंने कहा कि आज उत्तराखण्ड के साथ-साथ उत्तर प्रदेश में बाबा काशी विश्वनाथ की नगरी बनारस, प्रभु श्री राम की नगरी अयोध्या तथा बुद्ध के परिनिर्वाण की नगरी कुशीनगर का कायाकल्प हो रहा है। उन्होंने कहा कि आने वाले दस वर्षों में उत्तराखंड और उत्तर प्रदेश पर्यटन के क्षेत्र में नया आयाम स्थापित करेंगे और आर्थिक केन्द्र बिन्दु के रूप में उभरेंगें। उन्होंने कहा कि बाबा केदारनाथ धाम से उनका पुराना रिश्ता है और आज अपने सपने को साकार होता देख उन्हें अत्यन्त प्रसन्नता की अनुभूति हो रही है। कार्यक्रम में सूचना विभाग के पंजीकृत सांस्कृतिक दलों द्वारा कार्यक्रमों की प्रस्तुति की गई। वहीं एलईडी वैन एवं एलईडी स्क्रीन के माध्यम से कार्यक्रम का प्रसारण कराया गया। 

Text Example

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।