Jansandesh online hindi news

पूर्वांचल वैंक शाखा प्रबंधक की खुलेआम दबंगई, की बैंक सखी से अभद्रता, नारी सशक्तिकरण बना केवल दिखावा

 | 
पूर्वांचल वैंक शाखा प्रबंधक की खुलेआम दबंगई, की बैंक सखी से अभद्रता, नारी सशक्तिकरण बना केवल दिखावा

रिपोर्ट अभिमन्यु शुक्ला जिला ब्यूरो औरैया

इटावा उत्तर प्रदेश में सरकार द्वारा ग्रामीण  महिलाओं को समूह चलाकर रोजगार देने का काम कर रही है, सरकार नारी सशक्तिकरण की भी बात कर रही है लेकिन वहीं पूर्वांचल बैंक में बैंक सखी के रूप में सरकार की योजनाओं के तहत नियुक्त की जाती है, जिससे समूह की महिलाएं का बैंक में आकर सी सी एल का कार्य हो सके, लेकिन पूर्वांचल बैंक में बैठे शाखा प्रबंधक संजय सक्सेना ने बैंक सखी को कुर्सी मेज देने से इनकार तो किया ही, साथ ही बैंक सखी के साथ अभद्र भाषा के साथ साथ बत्तमीजी भी की, जब भड़ास पूरी नहीं हुई तो, बैंक सखी की कुर्सी टेविल भी शाखा प्रवन्धक ने गायब करा दी,

 कहां गया नारी सशक्तिकरण का नारा, कहां गया नारी सम्मान?
आखिर सरकार की योजनाओं पर अधिकारी क्यों रोड़ा बन रहे हैैं?


 शाखा प्रबंधक ने बैंक सखी को धमकी भी दे डाली अगर बैंक में समूह की महिलाओं का सीसीएल बनाना है तो अपने घर से टेविल कुर्सी लेकर आओ। शाखा प्रबंधक ने बैंक सखी को भीड़ में ही जोर जोर से चिल्लाकर अपमानित भी किया,  और बैंक परिसर में अभद्रतापूर्ण भाषा का भी प्रयोग किया, बैंक सखी ने जिलाधिकारी से लिखित सूचना भी दी है,अगर बैंक सखी को न्याय न मिला तो , क्षेत्रीय समूह की महिलाएं धरना प्रदर्शन भी करेंगी।