Jansandesh online hindi news

Rohini Court Blast आरोपी DRDO वैज्ञानिक ने हैंडवाश पीकर की आत्महत्या की कोशिश, एम्स में भर्ती

रोहिणी कोर्ट के अंदर एक टिफिन बॉक्स में कथित तौर पर इंप्रोवाइज्ड एक्सप्लोसिव डिवाइस (IED) के जरिए धमाका किया. पुलिस के अनुसार, कटारिया अपने पूर्व पड़ोसी अमित वशिष्ठ को मारना चाहता था, जिसके साथ उसकी लगभग एक दशक से “लंबी कानूनी लड़ाई” चल रही है. उन्होंने बताया कि उसने करीब एक महीने तक IED के जरिए बमबारी की योजना बनाई थी. आरोपी से दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने शुक्रवार को पूछताछ की और बाद में उसी दिन गिरफ्तार कर लिया. पुलिस ने कहा कि वह तब से पुलिस हिरासत में था और उससे पूछताछ की जा रही थी.

 | 
Rohini Court Blast आरोपी DRDO वैज्ञानिक ने हैंडवाश पीकर की आत्महत्या की कोशिश, एम्स में भर्ती

रोहिणी कोर्ट ब्लास्ट मामले में पुलिस ने एक डीआरडीओ वैज्ञानिक को गिरफ्तार किया है. लेकिन मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक आरोपी ने पुलिस हिरासत में कथित तौर पर एक जहरीला पदार्थ खा कर आत्महत्या की कोशिश की. पुलिस अधिकारियों ने पीटीआई-भाषा को बताया कि 47 वर्षीय भारत भूषण कटारिया का एम्स में इलाज चल रहा है और वह पूरी तरह से स्थिर हैं.

कटारिया पर आरोप है कि उसने रोहिणी कोर्ट के अंदर एक टिफिन बॉक्स में कथित तौर पर इंप्रोवाइज्ड एक्सप्लोसिव डिवाइस (IED) के जरिए धमाका किया. पुलिस के अनुसार, कटारिया अपने पूर्व पड़ोसी अमित वशिष्ठ को मारना चाहता था, जिसके साथ उसकी लगभग एक दशक से “लंबी कानूनी लड़ाई” चल रही है. उन्होंने बताया कि उसने करीब एक महीने तक IED के जरिए बमबारी की योजना बनाई थी.

आरोपी से दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने शुक्रवार को पूछताछ की और बाद में उसी दिन गिरफ्तार कर लिया. पुलिस ने कहा कि वह तब से पुलिस हिरासत में था और उससे पूछताछ की जा रही थी.

जानकारी के मुताबिक कटारिया ने शनिवार रात कथित तौर पर एक वॉशरूम के अंदर लिक्विड हैंड वाश का सेवन किया और बाद में वह बेहोश पड़ा मिला. एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि उन्हें बाबा साहेब अंबेडकर अस्पताल ले जाया गया और वहां से एम्स रेफर कर दिया गया.

अधिकारी ने पीटीआई के हवाले से कहा, “जब पुलिस कर्मी अस्पताल में उसकी जांच करने गए, तो उसने उनसे कहा कि उसने कुछ भी नहीं खाया है. लेकिन हमने डॉक्टरों से बात की और उन्होंने कहा कि उसने हैंडवॉश का सेवन किया है.”

अधिकारी ने कहा, “उनका एम्स में इलाज चल रहा है और वह पूरी तरह से स्थिर हैं. उनके सभी अंग सामान्य हैं. एक वरिष्ठ डॉक्टर सोमवार को उनकी जांच करेंगे और उन्हें छुट्टी मिलने की उम्मीद है. उनसे जल्द ही पूछताछ की जाएगी.” अधिकारी ने कहा कि आरोपी पूछताछ से बचकर जांच दल को गुमराह कर रहा है. उन्होंने कहा, “वह असहयोगी हैं और उन्होंने पूछताछ से बचने के लिए सिस्टम के बारे में जो कुछ भी पढ़ा है, उसका इस्तेमाल कर रहे हैं.”

Text Example

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।