Jansandesh online hindi news

संघमित्रा ने कहा, सपा में शामिल होने की खबर गलत, स्वामी प्रसाद मौर्य दो दिन में तय करेंगे रणनीति

उत्तर प्रदेश चुनाव से पहले दलबदल का दौर शुरू हो गया है। बीजेपी में कैबिनेट मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य (swami prasad maurya) के इस्तीफा देने से पार्टी के वरिष्ठ नेता भी चौंक गए हैं। उधर अखिलेश यादव ने ट्वीट कर मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य के सपा  में शामिल होने की सूचना दी। वहीं मौर्य की बेटी  ने इसे गलत करार दिया।
 | 
संघमित्रा ने कहा, सपा में शामिल होने की खबर गलत, स्वामी प्रसाद मौर्य दो दिन में तय करेंगे रणनीति

लखनऊ। बीजेपी में कैबिनेट मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य के इस्तीफा देने से उथल-पुथल मची हुई है। वहीं चर्चा है कि स्वामी प्रसाद मौर्य (swami prasad maurya) ने अखिलेश यादव (akhilesh yadav) के कहने पर समाजवादी पार्टी (samajwadi party) में शामिल हो गए हैं। लेकिन इन सभी अटकलों पर स्वामी प्रसाद मौर्य की बेटी और बदायूं से बीजेपी सांसद संघमित्रा ने खारिज कर दिया है।

बीजेपी सांसद संघमित्रा (bjp mp sanghamitra) ने बताया कि उनके पिता किसी पार्टी में शामिल नहीं हुए है। वह आगामी दो दिन में अपनी रणनीति के बारे में सभी को जानाकारी देंगे। उन्होंने साफ कहा है कि उनके पिता ने किसी भी पार्टी में शामिल होने की सहमति नहीं दी है।
 
बता दें कि बीजेपी से इस्तीफा देने के बाद अखिलेश यादव ने एक ट्वीट किया था। इसमें उन्होंने लिखा था कि सामाजिक न्याय और समता-समानता की लड़ाई लड़ने वाले लोकप्रिय नेता स्वामी प्रसाद मौर्या जी एवं उनके साथ आने वाले अन्य सभी नेताओं, कार्यकर्ताओं और समर्थकों का सपा में ससम्मान हार्दिक स्वागत एवं अभिनंदन। इसके बाद से ही उनके सपा में शामिल होने की चर्चा होने लगी।

वहीं अखिलेश यादव के ट्वीट को लेकर संघमित्रा ने कहा कि ऐसे ही उनके पिता की पहले भी फोटो वायरल हो चुकी है। उन्होंने बताया कि जब 2016 में उनके पिता ने बसपा का साथ छोड़ा था तब शिवपाल यादव ने उनके साथ की एक फोटो सोशल मीडिया पर डाल दी थी। इसके बाद उनके शिवपाल के साथ जुड़ने पर चर्चाएं होने लगी थी।

Text Example

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।