Jansandesh online hindi news

लखनऊ के बसपा कार्यालय में दूसरा महिला प्रबुद्ध सम्मेलन आयोजित किया गया

 | 
लखनऊ के बसपा कार्यालय में दूसरा महिला प्रबुद्ध सम्मेलन आयोजित किया गया

लखनऊ

बहुजन समाज पार्टी (BSP) में एक तरफ ब्राह्मणों को पार्टी से जोड़ने के लिए महासचिव सतीश चंद्र मिश्र (Satish Chandra Mishra) पसीना बहा रहे हैं तो दूसरी तरफ उनकी पत्नी भी महिलाओं को बसपा से जोड़ने के लिए लगातार कार्यक्रम में हिस्सा ले रही हैं. इसी कड़ी में लखनऊ कार्यालय पर दूसरा महिला प्रबुद्ध सम्मेलन का कार्यक्रम आयोजित किया गया. इस सम्मेलन की अगुवाई सतीश चंद्र मिश्र की पत्नी कल्पना मिश्रा (Kalpana Mishra) ने की. सम्मेलन में प्रदेश भर से आईं बड़ी संख्या में महिलाएं उपस्थित रहीं.

कल्पना मिश्रा ने कहा कि सतीश चंद्र मिश्र हर वर्ग को एकजुट करने के लिए हर जनपद में जा रहे हैं. पत्नी होने के नाते मेरा भी नैतिक कर्तव्य है कि इस काम में मैं उनका यथाशक्ति सहयोग करूं. उन्होंने कहा कि हमें पता है कि महिलाओं का एक दायरा होता है. समाज में उन्हें घर से निकलने के लिए तमाम तरह की दिक्कतों का सामना करना पड़ता है. बहन जी (मायावती) ने भी समाज के हर रोक-टोक और दायरों को तोड़कर महिलाओं एवं इस समाज के लिए उन्नति के लिए अपना जीवन समर्पित कर दिया.

आज हमको भी अपने-अपने घरों से बाहर निकलकर बहन जी के लिए मजबूती से खड़ा होना है ताकि बहन जी कि सरकार फिर से बन सके. उन्होंने कहा कि बहन जी एक अनुशासन के साथ शासन चलती है. उनकी सरकार में सारे गुंडे लोग चूहों के जैसे अपने बिल में रहते थे. हमारी बहन, बेटियां और माताएं सभी सुरक्षित रहती हैं. वे रात 2 बजे भी अपने घरों से निकलकर कहीं भी बेफिक्र जा सकती थीं. लेकिन आप सब ने देखा की समाजवादी सरकार और भाजपा सरकार में महिलाओं के साथ कैसे-कैसे जघन्य अपराध आए दिन हो रहे हैं?

कल्पना मिश्रा ने सपा पर हमला बोलते हुए कहा कि सपा सरकार में तो गुंडाराज चालू हो जाता है. भू-माफिया गैंग एक्टिव हो जाते हैं. किसी की जमीन अगर इन भू-माफियाओं को पसंद आ जाती थी तो ये उस पर कब्ज़ा कर लेते थे. विकास के नाम पर सपा वालों ने बहन जी के सरकार की परियोजनाओं पर अपना नाम चिपका दिया था. वो चाहे मेट्रो हो चाहे पार्क हो या लखनऊ-आगरा एक्सप्रेस वे हो. कानून व्यवस्था किस तरह ध्वस्त थी. आप सभी ने देखा.

भाजपा की गिनाई कमियां और किया हमला

कल्पना मिश्र ने बीजेपी को भी घेरा. उन्होंने कहा कि भाजपा तो सिर्फ रामलला के नाम पर वोट मांगती है. उन्होंने कहा कि हम अभी हाल ही में अयोध्या होकर आये वहां किसी भी तरह का कोई निर्माण नहीं हुआ है. भाजपा सरकार में किस तरह उन्नाव की बेटी और हाथरस की बेटी के साथ दरिंदगी हुई, ये सबने देखा. भाजपा का विधायक एक नाबालिग बच्ची के साथ दुष्कर्म करता है और सरकार उसको बचाने में जुट जाती है. मैं धन्यवाद करती हूं बहन जी और मीडिया बंधुओं का, जिन्होंने इस मामले को दबने नहीं दिया.

हाथरस में लड़की के साथ दुष्कर्म होता है और फिर लखनऊ में बैठी सरकार उस पर परदे डालने का काम करती है. उस बच्ची के शव को पेट्रोल डालकर उनके परिवार के गैर मौजूदगी में जला दिया जाता है. ऐसे मामले आये दिन होते रहते हैं लेकिन ये अपने बल-दल का उपयोग करके महिलाओं के उत्पीड़न और अत्याचार के मामलों को दबा देते हैं. तथाकथित अपराधी के नाम पर ब्राह्मण परिवारों के चिराग को बुझाया जा रहा है.

यदि कोई अपराधी है तो उसे पकड़कर जेल में डालें उस पर नियमानुसार मुकदमा चलाएं अगर वास्तव में यदि उसने अपराध किया है तो उसे न्यायालय दंड देगी लेकिन यह सरकार हमारी माताओं बहनों का सुहाग उजाड़ने का काम सरकार कर रही है. भाजपा सरकार झूठे वादे करने के लिए मशहूर है.

वर्तमान समय में महंगाई रिकॉर्ड तोड़ चुकी है. सरकार ने हमारी रसोई को टारगेट किया है. सिलेंडर ₹900 पहुंच चुका है. खाना बनाने में इस्तेमाल किया गया तेल 200 पर पहुंच चुका है. दाल 100 पार हो चुकी है एक गरीब परिवार एक समय का ही भोजन कर पा रहे हैं. पेट्रोल-डीजल का दाम आसमान छू रहा है. आज गरीब और मध्यम परिवार को अपना घर चलाने में पहाड़ों जैसी मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है. यह सरकार बिके हुए टीवी न्यूज़ चैनलों में ही विकास कर रही है. जमीनी हकीकत पर विकास कोसों दूर है.

बसपा कार्यकाल के गिनाए विकास कार्य

कल्पना मिश्र ने बसपा सरकार की उपलब्धियां गिनवाते हुए कहा कि आप देख सकते हैं कि बहन जी की सरकार में पूरे प्रदेश में कितना विकास हुआ है. लखनऊ आपके सामने उदाहरण के तौर पर है. बहन जी के कार्यकाल में राजधानी में चौड़ी-चौड़ी सड़कें बनी. बड़े और आलीशान पार्कों का निर्माण हुआ, जहां आप सभी अपने परिवार के साथ घूमने जाते हैं. उससे पहले भूल-भुलैया और इमामबाड़ा के अलावा प्रदेश की राजधानी लखनऊ में घूमने के लिए कुछ भी नहीं था. बहन जी की सरकार में अन्य लोगों के साथ गरीब सवर्णों की बच्चियां जो 15 जनवरी 2009 के बाद पैदा हुई है, उनको 18 साल का होने पर एकमुश्त ₹1 लाख देने की व्यवस्था की गई थी.

मथुरा, वृन्दावन का विकास बसपा शासन में ही हुआ. उस वक्त एयरपोर्ट पर हम लोगों से हेमा मालिनी जी मिली जिन्होंने माथुर, वृन्दावन की सुंदरता देखकर तारीफ की. मथुरा, वृन्दावन में सिर्फ आपकी सरकार का ही गुणगान होता है.

उन्होंने लोगों से अपील करते हुए कहा कि यह सब बातें मैं आपके सामने इसलिए रख रही हूं कि अगर आप भाजपा और सपा के झूठे वादों से गुमराह हो रहे हैं तो संभल जाएं. 2022 मैं बहन जी की सरकार बनाने का काम करें ताकि प्रदेश और आप सबका भविष्य उज्जवल हो सके और इनके झूठे वादों का मुंहतोड़ जवाब इनको मिल सके.

Text Example

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।